चिंता थी कि क्या हम डी-डे बना पाएंगे: इरफ़ान

  • 28 मई 2013
ऋषि कपूर
Image caption ऋषि कपूर डी-डे में दाउद इब्राहिम की भूमिका में हैं.

अंडरवर्ल्ड से जुड़े लोग बॉलीवुड को बहुत प्रिय हैं. नहीं गलत मत समझिए. अंडरवर्ल्ड से जुड़े लोगों पर आज तक बॉलीवुड में कई फिल्में बन चुकी है.

खासतौर पर दाउद इब्राहिम पर. फिल्मों की इस कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है निखिल आडवाणी निर्देशित डी-डे का.

फिल्म की लम्बी चौड़ी स्टार कास्ट का हिस्सा हैं इरफ़ान खान जो कहते हैं कि जब निखिल उनके पास इस फिल्म का प्रस्ताव लेकर आए तो उन्हें लगा कि ऐसी फिल्म बनाना तो सिर्फ सपनों में ही संभव है.

लेकिन सवाल उठता है कि आखिर क्यों?

दाउद का किरदार

Image caption फिल्म में इरफ़ान ने कई एक्शन सीन किए हैं.

मुंबई में मीडिया को इस सवाल का जवाब देते हुए इरफ़ान कहते हैं, ''निखिल जब मुझे डी-डे की कहानी सुना रहे थे तो मुझे लग रहा था कि मैं किसी रोलर-कोस्टर राइड पर सवार हूं. मुझे बस इस बात की चिंता सता रही थी कि जो कुछ भी निखिल ने लिखा है क्या उसे हम बड़े परदे पर जीवंत कर सकेंगें.''

अपनी बात को पूरा करते हुए इरफ़ान कहते है, ''निखिल ने अपनी कहानी में जिस तरह एक-एक बारीकी पर ध्यान दिया था मेरे लिए वो एक सपने जैसा ही था. मुझे बस यही लग रहा था कि क्या सच में हम इस फिल्म को बना पाएंगे.''

फिल्म में इरफ़ान खान के साथ नज़र आएंगे ऋषि कपूर जो दाउद इब्राहिम की भूमिका में हैं.

तो क्या ऋषि कपूर को इस किरदार के लिए मनाना आसान रहा निखिल के लिए?

ऋषि कपूर और इरफान

निखिल कहते हैं, ''रात के 8.30 बजे थे जब मैं ऋषि सर के घर गया. मैंने उनसे कहा कि मैं डी-डे बनाना चाहता हूं और चाहता हूं कि वो इस फिल्म में दाउद का रोल करें. ऋषि सर ने मुझसे कहा कि मैं पागल हो गया हूं. एक पागल करण मल्होत्रा था जिसने उनसे 'अग्निपथ' में रऊफ लाला का रोल करवाया और एक मैं हूं.''

Image caption फिल्म में अर्जुन एक रॉ एजेंट की भूमिका में है.

लेकिन फिर भी निखिल ने ऋषि कपूर को लुक टेस्ट के लिए मनवा ही लिया. लुक टेस्ट के बाद ऋषि को मनाने में ज्यादा देर नहीं लगी. निखिल कहते हैं कि उन्होंने 'अग्निपथ' में ऋषि कपूर का काम देखा था और उसी वजह से वो चाहते थे कि उनकी फिल्म में दाउद का किरदार ऋषि ही निभाएं.

डी-डे में ऋषि कपूर और इरफ़ान खान के साथ साथ अर्जुन रामपाल और हुमा कुरैशी भी हैं. दोनों ही फिल्म में रॉ एजेंट बने हैं.

देशभक्ति का भाव

यूं तो अर्जुन इससे पहले भी कई मल्टी-स्टारर फिल्मों में काम कर चुके हैं पर इस फिल्म में काम करने की कोई खास वजह?

हाल ही में मुंबई में हुई एक प्रेस वार्ता में इस सवाल का जवाब देते हुए अर्जुन बोले, ''फिल्म की कहानी ऐसी है जो आपको सोचने पर मजबूर कर देती है. ये कहानी चार रॉ एजेंट्स की है जो दाउद को पकड़ने की फ़िराक में हैं. फिल्म में जो देश भक्ति का भाव है वो बहुत आधुनिक है. लोग जब ये फिल्म देख कर बाहर निकलेंगे तो ये सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि क्या सच में ऐसा हो सकता है.''

डी-डे 19 जुलाई को रिलीज़ हो रही है.

( बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार