'ये जवानी...' पर उमर अब्दुल्ला का गुस्सा

ये जवानी है दीवानी

पिछले हफ्ते रिलीज़ हुई फिल्म 'ये जवानी है दीवानी' दर्शकों को ख़ासी पसंद आ रही है लेकिन जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला फ़िल्म से ज़रा नाराज़ हैं. लेकिन भला उमर गुस्से में क्यों हैं.

दरअसल फिल्म के एक बड़े हिस्से की शूटिंग गुलमर्ग में हुई है लेकिन उमर के मुताबिक़ फिल्म में उस स्थान को 'मनाली' कहा गया है.

Image caption फिल्म के कई हिस्सों की शूटिंग गुलमर्ग में हुई है.

उन्होंने ट्विटर पर खुलकर अपने ग़ुस्से का इज़हार किया. उमर ने लिखा, "बहुत दुख होता है कि फिल्म की शूट में मदद हम करें और दर्शकों को ये बताया जाए कि वो मनाली हैं."

फिल्म की शुरुआत में बताया गया है कि रणबीर, दीपिका और उनके दोस्त एक ट्रैकिंग ट्रिप के लिए मनाली के पहाड़ चढ़ने जाते हैं जो असल में कश्मीर का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल 'गुलमर्ग' है.

उमर ने ट्विटर पर ये भी लिखा कि "जो लोग फिल्म देखने के बाद मनाली जाने की सोच रहे हैं वे ये बात जान लें कि फिल्म में दिखाए रिसोर्ट और मंदिर के अलावा सभी दृश्य कश्मीर में फिल्माए गए हैं."

इस फिल्म का निर्देशन अयान मुख़र्जी ने किया है और निर्माता करण जौहर हैं.

Image caption फिल्म के क्रेडिट रोल में जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री को धन्यवाद कहा गया है.

करण के प्रोडक्शन हाउस 'धर्मा प्रोडक्शंस ने बीबीसी को अपने जवाब में कहा, "हमने फिल्म की शुरुआत में ही कश्मीर सरकार को क्रेडिट देते हुए उन्हें धन्यवाद कहा है. फिल्म के शुरूआती क्रेडिट रोल की तस्वीर भी हम आपको भेज रहे हैं जिसमें आप ये बात साफ देख सकते हैं."

बीते कुछ समय से कश्मीर के गुलमर्ग में पर्यटकों की गिनती गिरती जा रही है. कई राज्य अब फिल्मों के ज़रिए अपने यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के प्रयास कर रहे हैं.

ऐसे में माना जा रहा है कि इस फिल्म के ज़रिये भी राज्य सरकार गुलमर्ग को पर्यटन स्थल के रूप में प्रचारित करना चाहती थी.

संबंधित समाचार