किन स्ट्रीट फ़ूड के दीवाने हैं बॉलीवुड सितारे?

जब हम बॉलीवुड के सितारों के बारे में सोचते हैं तो हमारे ज़ेहन में बड़ी गाड़ियां, बड़े घर, बड़े होटल और उनके महंगे खाने का ही ख़्याल आता है.

पर क्या आपको पता है कि बॉलीवुड के कई फ़िल्मी सितारे मुंबई की खास गलियों-नुक्कड़ों में मिलने वाले ज़ायकों के दीवाने हैं.

कई फ़िल्मी अक्सर सितारे छुपते-छुपाते ऐसी जगहों पर जाकर खाने का लुत्फ़ उठाते हैं.

आइये जानते हैं ऐसे ही कुछ स्ट्रीट फूड ठिकानों के बारे में.

शालीमार रेस्टोरेंट

2012 के रमजान के पाक महीने में कटरीना कैफ, सलमान खान के परिवारिक सदस्यों के साथ इफ्तारी करने भिंडी बाज़ार के व्यस्त नुक्कड़ में बसे शालीमार जलपान घर पहुँची थीं.

शालीमार रेस्टोरेंट की स्थापना 1970 में पहलवान सेठ ने कोल्ड ड्रिंक हाउस से की थी. एक ही साल में यह जलपान घर में एक तब्दील हो गया.

अब पहलवान सेठ की तीसरी पीढ़ी उमेश शैख़ ने इस कारोबार की बागडोर संभाल ली है.

मोहम्मद अली रोड पर स्थापित शालीमार रेस्टोरेंट में हर दिन करीब 5000 ग्राहक आते हैं.

इतनी भीड़ में किसी फ़िल्मी सितारे के लिए लज़ीज़ व्यंजनों का लुत्फ उठाना मुमकिन नहीं है, इसलिए कई फ़िल्मी सितारे अँधेरी स्थित शाखा में गोपनीयता से व्यंजनों का लुफ्त उठाते हैं.

यहाँ आने वाले सितारों में खान परिवार, राजकुमार संतोषी, संजय लीला भंसाली, साजिद वाजिद और फ़िल्म जगत के जाने माने बहुत से नाम शामिल हैं.

शालीमार के मुगलई व्यंजन बहुत प्रसिद्ध है. खान परिवार यहाँ के लज़ीज़ कबाब, सिजलर्स का दीवाना है. साजिद को दाल गोश्त बहुत पसंद है, कई अनेक हस्तियों को यहाँ का तवा मेजवान पसंद है.

हाजी अली जूस सेंटर

Image caption सलमान खान हाजी अली जूस सेंटर के बेहद दीवाने हैं.

हाजी अली दरगाह के पास बना हुआ ये जूस सेंटर 40 साल पुराना है. इसकी शुरुआत नूरानी जी ने की थी.

ये छोटा सा जूस सेंटर अपने व्यंजनों के लिए इतना मशहूर है कि बॉलीवुड के दबंग खान यानी सलमान खान अक्सर यहाँ आते रहते है.

सलमान खान का पसंदीदा व्यंजन है जैन पिज़्ज़ा और केसर बादाम मिल्क शेक.

पुणे की येरवडा जेल से फिलहाल छुट्टी पर बाहर आए संजय दत्त भी यहाँ अक्सर आते थे.

भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को यहाँ का सीताफल (शरीफा) फ्रेश क्रीम बेहद पसंद है.

सलमान खान तो इस जगह के इतने दीवाने हैं कि उन्होंने अपने ट्विटर पर भी इसका जिक्र किया है "हाजी अली जूस सेंटर अब 12 बजे बंद हो जाता है. पता नहीं क्यों? बहुत दुखद बात है! पहले हम सुबह के पाँच बजे वहां जूस और पिज़्ज़ा खाया करते थे."

पूरी मुंबई में ये ऐसी इकलौती दुकान है जिसमें दरवाज़े नहीं है और करीबन 500 से 1000 लोग रोज़ यहाँ आते हैं.

व्यवसाय की बागडोर अब नूरानी जी की बेटियों ने संभाल ली है.

अस्मे नूरानी मुंबई के हाजी अली जूस सेंटर की देखरेख करती है जबकि ओमान में उनकी दूसरी बेटी. लगभग 70-75 लोग यहाँ अलग-अलग शिफ्ट में काम करते है .

आनंद वड़ा पाव

Image caption विवेक ओबेरॉय को आनंद वड़ा पाव का मैगी चीज़ डोसा बेहद पसंद है.

विले पार्ले के मशहूर विद्यापीठ मिठिभाई के सामने बसा हुआ आनंद वड़ा पाव न केवल सिर्फ छात्रों के बीच लोकप्रिय है बल्कि कई फ़िल्मी सितारे भी यहाँ आते हैं.

1980 में अर्नुघम नेणार ने वड़ा पाव के ठेले से शुरुवात की और धीरे धीरे ठेला दुकान में तब्दील हो गया.

वर्ष 2000 में जाने माने प्रकाशन ने आनंद वड़ापाव के डोसा को सर्वश्रेष्ठ डोसा के लिए पुरस्कृत किया. इसके बाद यहाँ दूर दूर से लोग सिर्फ इस डोसे को चखने के लिए विले पार्ले आने लगे.

फ़िल्मी जगत के कई सितारे यहाँ के डोसा और वड़ापाव का लुफ्त उठाने आते है, लेकिन अपनी गोपनीयता कायम रखने के कारण वो अपनी गाड़ियों से बाहर नहीं आते.

यहाँ आने वाले बॉलीवुड कलाकारों में अजय देवगन, काजोल, गोविन्दा, जैकी श्रॉफ, विवेक ओबेरॉय, मनोज बाजपेई, साउथ की अदाकारा सिमरन, तमन्नाह आदि शामिल हैं.

विवेक ओबेरॉय और तमन्नाह को यहाँ का मैगी चीज़ डोसा बेहद पसंद है. पर कई फ़िल्मी कलाकार यहाँ के वड़ा पाव के दीवाने हैं खासकर जैकी श्रॉफ.

इस सेंटर के मालिक आनंद का कहना है कि डोसा की जैसी विविधता यहाँ है वो मुंबई में कहीं और नहीं मिलेगी.

इस दुकान की ज़िम्मेदारी आनंद नेणार ने अपने पिता के देहांत के बाद 2012 में ली. वो एमबीए हैं.

उनके पिता चाहते थे कि वो कोई दूसरा काम करें, लेकिन किस्मत उन्हें अपने पारिवारिक कारोबार में ले आई.

आनंद को इससे कोई आपति नहीं है वे अपने पिता के बनाये हुए इस नाम को और रोशन करना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित समाचार