'गुलाब गैंग' पर रोक लगी

'गुलाब गैंग' इमेज कॉपीरइट Gulab Gang

दिल्ली हाईकोर्ट ने माधुरी दीक्षित और जूही चावला की फ़िल्म 'गुलाब गैंग' की पूरे भारत में रिलीज़ पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है. फ़िल्म इसी शुक्रवार सात मार्च को रिलीज़ होनी थी.

अदालत ने बुंदेलखंड की चर्चित 'गुलाबी गैंग' की नेता संपत पाल की याचिका पर ये फ़ैसला सुनाया.

(संपत पाल: मैं 'गुलाब गैंग' रिलीज़ नहीं होने दूंगी)

संपत ने दावा किया है कि फ़िल्म उनकी ज़िंदगी पर आधारित है और इसके लिए फ़िल्मकार ने उनसे कोई अनुमति नहीं ली है.

इमेज कॉपीरइट spice
Image caption संपत पाल ने आरोप लगाया कि फ़िल्म उनकी ज़िंदगी पर आधारित है और इसके लिए उनकी अनुमति नहीं ली गई है.

जबकि फ़िल्म से जुड़े लोग लगातार दावा करते रहे हैं कि संपत की ये बात ग़लत है और फ़िल्म उनकी ज़िंदगी पर कतई आधारित नहीं है.

दिल्ली हाईकोर्ट के फ़ैसले के बाद जब बीबीसी ने 'गुलाब गैंग' के निर्माता अनुभव सिन्हा से और निर्देशक सौमिक सेन से बात करनी चाही तो उन्होंने फ़ोन नहीं उठाया.

पहला मौक़ा नहीं

ये पहला मौक़ा नहीं है जब किसी फ़िल्म की रिलीज़ से ठीक पहले ही वो मुश्किल में फंस गई हो.

पिछले साल के आख़िर में संजय लीला भंसाली की फ़िल्म 'रामलीला' पर भी रिलीज़ के चंद रोज़ पहले ही एक याचिका के बाद रोक लगाई गई थी जिसके बाद संजय लीला भंसाली को फ़िल्म का नाम बदलकर 'गोलियों की रासलीला राम-लीला' करना पड़ा था.

इसी तरह से अनुराग कश्यप की फ़िल्म 'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर' और आशुतोष गोवरीकर की फ़िल्म 'जोधा-अकबर' भी कानूनी पेचीदिगियों में उलझने के बाद ही रिलीज़ हो पाई थीं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार