मोनालिसा की गोद में 'जरथुस्त्र'

मोना लिसा, लियोनार्डो दा विंची, फैटकैटआर्ट इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption लियोनार्डो दा विंची की मशहूर कलाकृति मोना लिसा का नया रूप

रूसी कलाकार स्वेतलाना पेत्रोवा अपनी ऑनलाइन कलाकृतियों के लिए जानी जाती हैं. स्वेतलाना दुनिया की महान कलाकृतियों में कंप्यूटर की मदद से अपनी पालतू बिल्ले जरथुस्त्र की तस्वीरों को जोड़ देती हैं. लेकिन उनके इस प्रयास का क्या नतीजा रहा और आख़िर उन्हें इसकी प्रेरणा कैसे मिली.

स्वेतलाना ने बीबीसी को बताया कि उनकी कलाकृतियों के पीछे क्या प्रेरणा थी और डिजिटल तकनीकी किस तरह से कला प्रारूपों पर प्रभाव डाल रही है.

स्वेतलाना ने बीबीसी से कहा, "मेरी माँ का 2008 में देहांत हो गया. वो मेरे लिए जरथुस्त्र को छोड़ गईं. उनकी मौत के बाद मैं दो सालों के लिए भयानक अवसाद में डूब गई थी. मैं कुछ रचनात्मक नहीं कर पा रही थी. संयोग से मेरी एक दोस्त ने मुझसे कहा कि तुम अपने बिल्ले से जुड़ी किसी कलाकृति पर काम क्यों नहीं करती? तुम्हारा बिल्ला बड़ा मज़ेदार है."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जेम्स मैकनील व्हिसलर की प्रसिद्ध कृति 'व्हिसलर मदर' का नया रूप

स्वेतलाना ने कहा, "मेरे पास पहली भी बिल्लियाँ थीं. मैंने पहले भी अपनी कलाकृतियों में उनका प्रयोग किया था. लेकिन मैंने सोचा मैं जरथुस्त्र के साथ क्या कर सकती हूँ. मेरी माँ ने उसे बहुत बिगाड़ दिया था और वो बहुत मोटा भी था."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption इवान आर्गुनोफ़ की मशहूर कृति का नया रूप

उन्होंने बताया, "जरथुस्त्र को फ़ोटो खिंचाना बहुत पसंद है. वो सचमुच चालाक बिल्ला है. वो आराम से लेटकर अलग-अलग चेहरे बनाना पसंद करता है, जैसे कि वो किसी से बात कर रहा हो. तो मैंने उसकी तस्वीरें लेनी शुरू कर दीं और उन्हें कलाकृतियों में जोड़ दिया."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption विक्टर वासनेत्सोफ़ की सबसे लोकप्रिय कलाकृतियों में एक 'बोगाटिर' का नया रूप.

उन्होंने बताया, "मुझे इसका परिणाम पसंद आया. मैंने इसे कुछ दोस्तों, दूसरे कलाकारों और कलादीर्घा वालों को दिखाया. हर कोई इसे देख कर हँसा, फिर मैं इसके बारे में भूल गई क्योंकि मुझे दूसरी कला परियोजना पर काम करना था."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अमरीका के मशहूर कलाकार ग्रांट डेवोल्सन वुड की कलाकृति का नया रूप

स्वेतलाना ने बताया, "कुछ महीने बाद एक दोस्त ने मेरे एल्बम में मेरी इस कलाकृति को देखा और बताया कि मेरा बिल्ला इंटरनेट पर छाया हुआ है. इसके बाद हमने एक प्रोफेशनल फोटोग्राफर की मदद से जरथुस्त्र की फ़ोटो खिंचवाई. हालांकि इसके लिए हमें महीनों इंतजार करना पड़ा क्योंकि शुरू-शुरू में उसने ठीक से फ़ोटो नहीं खिंचवाई."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption दिमित्री लेवित्सकी की मशहूर कलाकृति का नया रूप

वो कहती हैं, "फिर मैंने जरथुस्त्र के पोज़ के हिसाब से सोचना शुरू किया कि किस कलाकृति में उसे जोड़ा जा सकता है."

उन्होंने बताया, "कई बार उसे कलाकृति में किसी चरित्र की जगह जोड़ा गया तो किसी कलाकृति में उसे अतिरिक्त चरित्र के तौर पर जोड़ा गया."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption अमरीका के समकालीन कलाकार फ्रैंक शेफ़र्ड फ़ेयरी के बराक ओबामा के बनाए पोस्टर 'होप' का नया रूप.

स्वेतलाना बताती हैं, "मैं डिजिटल पेंटिंग भी बनाती हूँ. मैं कलाकृतियों की हाई रेज़ोल्यूशन की डिजिटल तस्वीर का प्रयोग करती हूँ और उनमें बिल्ले की तस्वीर जोड़ देती हूँ."

वो कहती हैं, "डिजिटल तकनीकी ने हमें कलाकृति निर्माण का मौका दिया है और संग्रहालयों को इस पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए."

(स्वेतलाना पेत्रोवा की वेबसाइट है फैटकैटआर्ट डॉट आरयू)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)