मैं एक रूढ़िवादी परिवार से आती हूं: प्रियंका चोपड़ा

  • 11 जून 2014
प्रियंका चोपड़ा और अशोक चोपड़ा इमेज कॉपीरइट hoture images

एक नाम का होना हम सबकी पहचान का एक मात्र ज़रिया है

पर कई लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने मरणोपरांत भी अपने नाम की छाप कहीं न कहीं छोड़ जाते हैं.

चाहे वो अस्पताल हो, कोई म्यूज़ियम हो या फिर कोई सड़क.

अब एक ऐसी ही सड़क है जो अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के लिए बेहद ख़ास बन गई है. इस सड़क को उनके पिता का नाम जो मिल गया है.

बीते सोमवार को उनके पिता की पहली पुण्यतिथि थी और इसी मौक़े पर बॉम्बे म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) ने उनके पिता को सम्मानित किया.

रूढ़िवादी परिवार

'दोस्ताना' और 'डॉन' जैसी फ़िल्मों में अपनी बोल्ड अदा दिखाने वाली अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा एक रूढ़िवादी परिवार से आती हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

आज वो जो कुछ भी हैं, जितनी भी शौहरत उनके पास है इस सबके लिए वो अपने परिवार और ख़ास तौर पर अपने पिता का शुक्रिया करती हैं.

प्रियंका बताती हैं, "मैं पैदा हुई हूं एक बहुत ही रूढ़िवादी परिवार में जहाँ लड़के और लड़कियों में बहुत फ़र्क़ होता है. लड़के बाहर जा सकते हैं और लड़कियां नहीं जा सकती. लेकिन मुझे हमेशा मेरे माता पिता ने मेरी मदद की. उन्होंने मुझे कभी भी किसी चीज़ को करने के लिए नहीं रोका.

वो आगे कहती हैं, "मुझे याद है मैं जब 13 साल की थी तो मैंने अपनी माँ से अमरीका में पढ़ाई करने की ख़्वाहिश ज़ाहिर की थी और उन्होंने मेरे पापा से इस बारे में बात की. मुझे डर था कि कहीं मेरे पिता मना तो नहीं कर देंगे पर इसके विपरीत उन्होंने मुझे कहा कि अगर मुझे लगता है कि अमरीका में पढ़ाई से मुझे फ़ायदा होगा तो मैं जा सकती हूं. उन्होंने मुझे काफ़ी सपोर्ट किया."

घर से दिखती है सड़क

अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा के पिता की सोमवार को पहली पुण्यतिथि थी और बॉम्बे म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) उनके प्रति अपने सम्मान दिखाते हुए एक सड़क को उनका नाम दे दिया है.

इमेज कॉपीरइट Krrish 3

यारी रोड,अंधेरी(पश्चिम) से बस कुछ ही दूरी पर ये सड़क है जिसे अब लेफ्टिनेंट कर्नल डॉक्टर अशोक चोपड़ा मार्ग कहा जाएगा.

प्रियंका ने कहा, "इस सड़क के बारे में मुझे पिछले महीने पता लगा. मुझे और मेरे परिवार को बहुत आश्चर्य हुआ. ये एक बहुत भावुक हो गए थे. मेरे पिता ने रॉटरी के ज़रिए काफ़ी काम किया आर्मी में भी उन्होनें काफ़ी किया."

वो आगे कहती हैं, "ये सड़क बिल्कुल हमारे घर से निकलते ही दिखती है और उसी सड़क को मेरे पिता का नाम देना, ये बात मुझे बहुत ही भावुक कर देती है. समझ नहीं आ रह की मैं इसे कैसे बयान करूं."

मैरीकॉम पर फ़िल्म

प्रियंका चोपड़ा ने मुक्केबाज़ मैरी कॉम पर बन रही एक फ़िल्म में काम किया है.

मैरी कॉम भारतीय मुक्केबाज़ हैं जिन्होंने साल 2012 में हुए लंदन ओलंपिक्स में मुक्केबाज़ी के 51 वर्ग किलो श्रेणी में कांस्य पदक जीता था.

पर क्या ये फ़िल्म मैरी कॉम के जीवन पर ही आधारित है? क्या ये उनकी जीवनी है?

प्रियंका ने इसके जवाब में कहा, "देखिए ये जो फ़िल्म है मैरी कॉम के बारे में इसमें आपको एंटरटेनमेंट तो मिलेगा पर ये कहना ग़लत होगा कि ये मैरी कॉम की बायोग्राफी है."

वो आगे कहती हैं, "ये फ़िल्म कहानी है उस महिला की जिसने समाज के दायरे से बाहर निकालकर अपनी पहचान बनाने के बारे में सोचा. वो एक दूर दराज़ के इलाक़े से आई है, उसके माता पिता किसान हैं और उनके पास ज़्यादा पैसे नहीं हैं लेकिन मैं अपने आपको जितना बड़ा बना सकूं बनाउंगी."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार