नहीं रहीं जानी-मानी अभिनेत्री ज़ोहरा सहगल

ज़ोहरा सहगल और अमिताभ बच्चन इमेज कॉपीरइट Cheeni Kum

भारतीय फ़िल्मों की जानी-मानी हस्ती ज़ोहरा सहगल का 102 साल की उम्र में निधन हो गया है.

सामाजिक कार्यकर्ता शबनम हाशमी ने बीबीसी से बातचीत में इसकी पुष्टि की.

हाशमी ने बताया कि शुक्रवार को दिल्ली के लोदी रोड स्थित शवदाह गृह में उनका अंतिम संस्कार होगा

ज़ोहरा की आखिरी हिंदी फिल्म 2007 में संजय लीला भंसाली की साँवरिया थी.

सुनिए: ज़ोहरा सहगल से ख़ास बातचीत

उन्होंने अमिताभ बच्चन के साथ 'चीनी कम' और 'कभी ख़ुशी, कभी ग़म' जैसी फ़िल्मों में काम किया था.

इसके अलावा 'वीर-ज़ारा' और 'हम दिल दे चुके सनम' जैसी कामयाब फिल्मों में भी वह नज़र आईं.

'100 साल की बच्ची'

इमेज कॉपीरइट pr
Image caption ज़ोहरा सहगल लगातार काम करते रहने को लंबी उम्र का राज़ बताती थीं

उन्होंने 'चीनी' कम में अमिताभ बच्चन की मां की भूमिका निभाई थी. साल 2012 में जब ज़ोहरा सहगल ने 100 साल पूरे किए थे तब अमिताभ बच्चन ने उन्हें '100 साल की बच्ची' कहा था.

अमिताभ कहते हैं, "एक प्यारी छोटी सी बच्ची की तरह हैं वो. इस उम्र में भी उनकी असीमित ऊर्जा देखते ही बनती है. मैंने उन्हें कभी भी निराश या किसी दुविधा में नहीं देखा. वो हमेशा हंसती, खिलखिलाती रहती हैं."

अमिताभ बताते हैं कि 'चीनी कम' के सेट पर ज़ोहरा हमेशा सबको बड़े प्यार से पुरानी कहानियां सुनाया करती थीं.

सुनिए: ज़ोहरा सहगल पर अमिताभ

ज़ोहरा सहगल के साथ अपने करीबी संबंधों का ज़िक्र करते हुए अमिताभ बताते हैं, "ज़ोहरा जी, पृथ्वीराज कपूर के पृथ्वी थिएटर से जुड़ी थीं और पृथ्वीराज कपूर का मेरे पिता से बहुत करीबी रिश्ता था. जब भी पृथ्वीराज जी अपने नाटक के सिलसिले में इलाहाबाद आते, तो वहां हम सबकी ज़ोहरा जी से ज़रूर मुलाकात होती."

ज़ोहरा कहती थीं कि उनकी लंबी उम्र का राज़ लंबे समय तक सक्रिय रहना था.

ज़ोहरा सहगल कहती थीं, "अगर आप निष्क्रिय होकर घर पर बैठ गए तो समझ लीजिए आप खत्म हो गए."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार