दिलीप कुमार का घर राष्ट्रीय विरासत घोषित

हिंदी फिल्मों के महान अभिनेता दिलीप कुमार के पाकिस्तान स्थित पुश्तैनी घर को राष्ट्रीय विरासत घोषित किया गया है.

साहबे आलम दिलीप कुमार

यह घर पेशावर के किस्सा ख़्वानी बाज़ार में है और बहुत ही जर्जर हालत में है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इस घर को पहले ठीक किया जाए और फिर इसे एक संग्रहालय में तब्दील किया जाए.

उन्होंने कहा है कि इस काम को जल्द से जल्द पूरा किया जाए.

पाकिस्तान से स्थानीय पत्रकार शिराज़ हसन के अनुसार खैबर पख्तून प्रांत की पिछली एएनपी सरकार ने भी फैसला किया था कि इसे राष्ट्रीय विरासत करार दिया जाए, लेकिन बाद में संपत्ति की मिल्कियत से जुड़े विवाद के चलते मामला ठंडे बस्ते में चला गया.

लेकिन अब संघीय सरकार की ओर से इस बारे में पहल किए जाने से उम्मीद जगी है कि इस घर का कायापलट होगा.

पाकिस्तान में हिंदी फिल्में बहुत लोकप्रिय हैं. दिलीप कुमार ही नहीं, बॉलीवुड की और भी कई जानी-मानी हस्तियों की जड़ें कहीं न कहीं पेशावर से जुड़ी हैं जिसमें पृथ्वीराज कपूर और शाहरुख ख़ान के नाम भी शामिल हैं.

शिराज़ हसन के अनुसार पिछले तीन साल से पेशावर प्रेस क्लब में दिलीप कुमार का जन्मदिन मनाया जाता है और इस मौक़े पर दिलीप कुमार फोन या फिर इंटरनेट के माध्यम से अपने चाहने वालों के साथ बातचीत करते हैं.

पेशावर में कई लोग वर्षों से प्रयास कर रहे थे कि दिलीप कुमार के पुश्तैनी घर को संरक्षित किया जाए.

(बीबीसी हिंदी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार