सिक्स पैक बनाने हैं आपको?

टाइगर  श्रॉफ़ इमेज कॉपीरइट hoture images

"100 में से 90 लोग आकर कहते हैं कि हमें सिक्स पैक चाहिए." ये कहना है उमेश का, जो एक जिम ट्रेनर हैं और इनका खुद का जिम है.

आजकल युवाओं में फ़िट रहने का शौक़ तेज़ी से बढ़ रहा है और इसके पीछे 'सिक्स पैक एब्स' का बहुत बड़ा हाथ है.

(75 साल की बॉडी बिल्डर)

अच्छी बॉडी और स्लिम दिखने की चाहत सभी युवाओं को जिम का रास्ता दिखा देती है.

धारणा है कि कुछ महीनों की कड़ी मेहनत और खानपान में परहेज़ के बाद अच्छे ख़ासे एब्स आ जाते हैं.

पर एब्स आने के बाद ये युवा करते क्या हैं? कितने लोग उन्हें बरक़रार रख पाते हैं? या बस सोशल मीडिया पर तस्वीर डालकर वाहवाही बटोरी और ज़िंदगी वापस पुराने ढर्रे पर. क्या-क्या खाना पड़ता है 'सिक्स पैक एब्स' के लिए?

खानपान और व्यायाम

इमेज कॉपीरइट sunil kumar

एक जिम के मालिक और फ़िटनेस ट्रेनर सुनील कुमार कहते हैं, "सिक्स पैक एब्स के लिए आपको व्यायाम के साथ-साथ खाने-पीने पर ध्यान देना पड़ता है. कम कार्बोहाइड्रेट्स और कम वसा वाला खाना खाएं और ज़्यादा प्रोटीन वाली चीज़ें खाएं."

(सिक्स पैक बनाएँ पर जरा ध्यान से...)

"अपने खाने में 60 फ़ीसदी प्रोटीन, 20 फ़ीसदी कार्बोहाइड्रेट्स और 20 फ़ीसदी फैट रखें."

वहीं फ़िटनेस ट्रेनर उमेश कहते हैं, "व्यायाम में लेग रेज़ेज़, क्रंचेज़, सिट-अप्स, साइड बेन्डिंग और ट्विस्टिंग कर लीजिए. अगर आपने ये वर्ज़िश सही खानपान के साथ कीं, तो आपके सिक्स पैक तीन महीने में बन जाएंगे."

सप्लीमेंट्स

इमेज कॉपीरइट umesh kumar
Image caption ट्रेनर उमेश कुमार मानते हैं कि आजकल सब चीज़ों में मिलावट है इसीलिए सप्लिमेंट्स बॉडी के लिए ठीक रहते हैं.

जनरल फिज़ीशियन डॉक्टर एसके बक्शी का कहना है, "अगर हम अपने बॉडी वेट के हिसाब से प्रतिकिलो एक ग्राम के हिसाब से प्रोटीन खाते हैं, तो हमें किसी भी तरह के प्रोटीन शेक की ज़रूरत नहीं है."

(कुछ खेल ऐसे भी...)

"अगर सिर्फ़ हैल्थ सप्लीमेंट में प्रोटीन है, फिर तो उसका कोई नुक़सान नहीं, पर अगर उसमें स्टेरॉयड्स या कुछ और लेते हैं, तो वो काफ़ी नुक़सान पहुंचा सकता है."

पर छह महीने बाद सिक्स पैक का होता क्या है?

ट्रेनर अनिल और उमेश दोनों मानते हैं कि सब लोग जो सिक्स पैक के लिए कड़ी मेहनत करते हैं और डायट पर रहते हैं. एक बार उनके आ जाने पर वो फिर खाने की ओर बढ़ते हैं और बस खेल वहीं ख़त्म हो जाता है. सिक्स पैक के खांचे बदल जाते हैं एक थुलथुल और बेडौल जिस्म में.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार