ग़लत नहीं नेताओं का मज़ाक: परेश रावल

  • 27 अगस्त 2014
'ओ माय गॉड' इमेज कॉपीरइट OMG

हाल ही में जया बच्चन ने राज्य सभा में कहा था कि रेडियो जॉकी जिस तरह की भाषा इस्तेमाल करते हैं और नेताओं का मज़ाक उड़ाते हैं, उस पर अंकुश लगाना चाहिए. लेकिन अभिनेता और भारतीय जनता पार्टी के सांसद परेश रावल उनकी इस बात से इत्तेफ़ाक़ नहीं रखते.

परेश रावल कहते हैं, "मुझे नहीं लगता इसकी ज़रूरत है. हर एक को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है. भई मैं तो कलाकार हूं और मुझे इसमें कुछ भी ग़लत नज़र नहीं आता."

परेश रावल, शुक्रवार को रिलीज़ हो रही फ़िल्म 'राजा नटवरलाल' में अहम भूमिका में दिखेंगे. इसमें इमरान हाशमी और पाकिस्तानी अभिनेत्री हुमैमा मलिक भी दिखेंगी.

नसीर के मुरीद

परेश रावल ने कॉमेडी में अपनी अलग छाप छोड़ी है लेकिन वो अपने आपको बहुमुखी प्रतिभा वाला कलाकार कहलवाना चाहते हैं.

तभी तो वे कहते हैं, "नसीरुद्दीन शाह ने जैसी ख्याति अर्जित की, मैं वैसा कलाकार बनना चाहता हूं."

परेश रावल ने कहा कि उन्हें फ़िलहाल कपिल शर्मा की कॉमेडी बहुत पसंद है.

आमिर से प्रभावित

इमेज कॉपीरइट Star Plus

परेश रावल क्या कभी टीवी पर आना चाहेंगे?

इसके जवाब में वे कहते हैं, "जब मुझे लगेगा कि मैं कोई बात थिएटर या फ़िल्म के माध्यम से नहीं कह पा रहा हूं तो टीवी भी करूंगा."

वैसे परेश रावल टीवी पर आमिर ख़ान के शो 'सत्यमेव जयते' को अच्छी पहल मानते हैं.

वे कहते हैं, "अहम बात ये है कि आमिर जैसा बंदा जब ऐसे गंभीर विषय उठाता है तो लोग सुनते हैं. कोई अन्य कलाकार ये बातें कहेगा तो कोई नहीं सुनेगा."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार