आ रहा है रहमान के संगीत से सजा 'एवरेस्ट'

ए आर रहमान और आशुतोष गोवारिकर इमेज कॉपीरइट star plus

“मैं हमेशा से यही सोचता रहता था कि लोगों को पहाड़ों पर चढ़ाई क्या मिलता है? मेरी रिसर्च में मुझे पता चला कि उन्हें इससे ख़ुशी मिलती है और उन्हें संतुष्टि मिलती है.”

ऐसा कहना है फ़िल्मकार आशुतोष गोवारिकर का जो एक टेलीविज़न सीरियल 'एवरेस्ट' लेकर आ रहे हैं.

आशुतोष इसके निर्माता हैं, निर्देशक हैं ग्लेन बरैटो और अंकुश मोहला.

संगीत दिया है ए आर रहमान ने और शो को लिखा है फ़िल्म 'स्वदेस' की सहायक कला निर्देशक रही मिताली महाजन ने.

एवरेस्ट पर फ़िल्म क्यों नहीं?

पर इतनी अच्छी टीम के साथ आशुतोष टेलीविज़न सीरियल बनाने के बजाए एवरेस्ट पर एक अच्छी ख़ासी फ़िल्म बना सकते थे. उन्होंने ऐसा क्यों नहीं किया?

इस सवाल पर हंसते हुए आशुतोष ने कहा, "देखिए मैं वैसे भी लंबी फ़िल्में बनाने के लिए जाना जाता हूं, तो अगर मैं एवरेस्ट पर फ़िल्म बनाता तो वो तक़रीबन 15 से 20 घंटे की होती. बात दरअसल ये है कि इस

इमेज कॉपीरइट star plus

कहानी के कई पहलू हैं जो हमें दिखाने थे और वो फ़िल्म के ज़रिए हम नहीं दिखा पाते."

'टीवी में काम करने की इच्छा'

संगीतकार ए आर रहमान कहते हैं, "काफ़ी सालों से टेलीविज़न में काम करने की मेरी इच्छा थी. जब मुझे आशुतोष जी ने 'एवरेस्ट' की कहानी सुनाई तो मुझे ये काफी पसंद आई. इससे बेहतर और क्या होगा कि मैं टीवी पर आशुतोष जी के साथ काम करूं.”

इमेज कॉपीरइट Reuters

'एवरेस्ट' के निर्देशक अंकुश मोहला ने कहा, “आशुतोष हमारे लिए प्रेरणास्रोत रहे और उन्होंने हमेशा हमें सही दिशा दिखाई. हम तो सिर्फ़ इतना जानते थे कि ये सबसे ऊंची चोटी है पर वहां जाने के लिए क्या जद्दोजहद करनी पड़ती है वो सब हमें आशुतोष ने बताया."

इस सीरियल के कितने एपिसोड्स होंगे और ये कब दिखाया जाएगा? इसका जवाब आशुतोष ने नहीं दिया पर बातों ही बातों में ए आर रहमान ने कह दिया 50 एपिसोड्स. फिर तुरंत ही 100 बताकर आशुतोष की तरफ़ देखकर मुस्कुरा दिए.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.

संबंधित समाचार