'दावत..' क़बूल करने के क़ाबिल

  • 20 सितंबर 2014
'दावत-ए-इश्क़' इमेज कॉपीरइट Yashraj Banner

फ़िल्म: दावत-ए-इश्क़

निर्देशक: हबीब फ़ैसल

कलाकार: आदित्य रॉय कपूर, परिणीति चोपड़ा

रेटिंग: ***

बदलते वक़्त के साथ कुछ ऐसी चीज़ें हैं, जो हिंदी सिनेमा में कम देखने को मिलती है.

जैसे 80 के दशक में आई 'निकाह' और 'उमराव जान' और 90 के दशक में आई 'सनम बेवफ़ा' जैसी मुस्लिम सोशल ड्रामा वाली फ़िल्में.

साथ ही आजकल की फ़िल्मों में निम्न मध्यमवर्गीय परिवार का प्रस्तुतिकरण भी लगभग ग़ायब सा हो गया है.

इस फ़िल्म की विषयवस्तु कुछ इसी तरह की है.

कहानी

इमेज कॉपीरइट Yashraj Banner

फ़िल्म है दो मुस्लिम परिवारों की कहानी.

इसकी ज़्यादातर शूटिंग लखनऊ और हैदराबाद में हुई और दोनों ही शहरों को ख़ूबसूरती से पेश किया गया है.

आदित्य रॉय कपूर लखनऊ में एक रेस्टोरेंट के मालिक हैं जिसमें वो ख़ुद ही पकाते हैं और ग्राहकों को ज़ायकेदार खाना परोसते हैं.

वह आकर्षक हैं, परोपकारी हैं और इतने सज्जन इंसान हैं, जैसा वास्तविक जीवन में मिलना थोड़ा मुश्किल होता है.

अगर 'आशिक़ी-2' से आदित्य रॉय कपूर की महिला प्रशंसक नहीं बन पाई होंगी, तो 'दावत-ए-इश्क़' यह काम कर देगी.

कमाल की परिणीति

इमेज कॉपीरइट Yahraj Banner

परिणीति चोपड़ा की तारीफ़ करनी होगी.

वह बिना सोचे-समझे गर्ल नेक्स्ट डोर वाले रोल इतनी आसानी से क़बूल कर लेती हैं जबकि ऐसे रोल में अनाकर्षक और नॉन ग्लैमरस लगने का ख़तरा रहता है .

परिणीति के पिता के रोल में अनुपम खेर हैं जो हाईकोर्ट में क्लर्क हैं. उन्होंने शानदार अभिनय किया है.

फ़िल्म निर्देशक 'अंडररेटेड' हबीब फ़ैसल हैं जो इससे पहले 'दो दूनी चार' और 'इशकज़ादे' जैसी फ़िल्में दे चुके हैं.

मैंने उन्हें 'अंडररेटेड' इसलिए कहा क्योंकि उनसे कम टैलेंटेड लोगों को बॉलीवुड में कहीं ज़्यादा ख्याति और नाम मिल जाता है.

मनोरंजक फ़िल्म

इमेज कॉपीरइट Yashraj Banner

फ़िल्म की थीम 'दहेज़' समस्या पर आधारित है. इसमें डांस और गाने जैसे महत्वपूर्ण मनोरंजन के अवयव मौजूद हैं.

फ़िल्म धारा 498-ए के दुरुपयोग पर बहस की शुरुआत भी करती हुई लगती है. इसमें दहेज़ की रिपोर्ट होते ही ग़ैर-ज़मानती वॉरंट जारी हो जाता है.

फ़िल्म समझदारी से बनाई गई है.

हाल के कुछ सालों में यशराज बैनर को काफ़ी विविधतापूर्ण फ़िल्म बनाने का श्रेय जाता है. इसके लिए वह बधाई के पात्र हैं.

'दावत-ए-इश्क़' की दावत क़बूल करने के क़ाबिल है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार