'मैं जब बुलाता राज कपूर दौड़ा आता'

  • 26 सितंबर 2014
देव आनंद, राज कपूर इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

देव आनंद एक दफ़ा अपने प्रशंसक को थैंक्यू बोलना भूल गए तो उन्होंने ड्राइवर से गाड़ी घुमाने को कहा और उसे सिर्फ़ शुक्रिया अदा करने 40 किलोमीटर का सफ़र तय किया.

खाने में उनको क्या पसंद था, दिलीप कुमार और राज कपूर से उनके कैसे संबंध थे और उनकी पसंदीदा अभिनेत्री कौन थीं?

ये सब बातें बताईं उनके 91वें जन्मदिन पर उनके निकट सहयोगी रहे मोहन चुरीवाला ने.

देव आनंद पर मोहन चुरीवाला (उनके सहयोगी):

देव आनंद को मैंने कभी दुखी नहीं देखा. वो हमेशा उर्जा से भरे रहते थे.

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala
Image caption देव आनंद को हैट पहनने का काफ़ी शौक़ था.

उन्हें अस्पताल जाना क़त्तई पसंद नहीं था क्योंकि बीमार लोगों को देख कर उन्हें तकलीफ़ होती थी.

उनकी फ़िल्मों में जब अस्पताल का सीन होता तो वो असल अस्पताल में शूट नहीं करते थे हमेशा सेट बनाते.

उन्हें किताबें पढ़ने का बहुत शौक़ था लेकिन वो अपनी किताबें किसी को नहीं देते थे.

राज कपूर, दिलीप कुमार से रिश्ते

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

राज कपूर के जन्मदिन पर अपने ज़माने के ये तीनों सुपरस्टार मिलते. राज कपूर से तो उनके बहुत अच्छे संबंध थे.

वो मुझे हमेशा बताते थे कि मैं किसी भी काम के लिए राज को बुलाऊं तो वो दौड़ा चला आता. मैं भी राज के बुलाने पर कहीं भी चला जाता.

मुंबई में अपनी आत्मकथा को वो दिलीप कुमार से लॉन्च कराना चाहते थे लेकिन दिलीप साहब की ख़राब सेहत के चलते ऐसा ना हो पाया.

तब अमिताभ बच्चन ने किताब लॉन्च की थी.

खाना

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

उन्हें शाकाहारी खाना पसंद था. वो काली दाल, छोले और दही बड़े चाव से खाते थे. नाश्ता भारी करते थे लेकिन लंच नहीं करते थे.

डिनर के बाद हमेशा वॉक पे जाते थे. उन्हें खाने से ज़्यादा खिलाने का शौक़ था.

कभी खाना अकेले नहीं खाते थे. हमेशा अपनी क्रू के साथ बैठकर खाते.

प्रशंसक

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

हर उम्र के लोग उनके प्रशंसक थे. वह कभी उन्हें निराश नहीं करते थे.

लड़कियां अपनी हथेली पर उनके ऑटोग्राफ़ ले लेतीं थीं.

एक दफ़ा एक लड़की उनसे बोली कि मेरी नानी आपकी बहुत बड़ी फ़ैन है और कहती हैं कि आपसे मिले बिना वो मरेंगी नहीं.

तब देव साहब बोले, "तब तो मैं उनसे कभी नहीं मिलूंगा. क्योंकि मैं चाहता हूं कि वो ज़िंदा रहें."

पसंदीदा अभिनेत्री

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

सुरैया को वो चाहते थे, ये बात हर किसी को पता है.

लेकिन कोस्टार की बात करें तो उन्हें मीना कुमारी बहुत पसंद थी. वो कहते थे कि मीना का उच्चारण और भाषा बड़ी नफ़ासत वाली है.

इमेज कॉपीरइट Mohan Churiwala

संगीतकारों में उन्हें एसडी बर्मन के अलावा कोई नहीं भाता था. उनके गुज़र जाने के बाद वो उनके बेटे आरडी बर्मन के साथ काम करने लगे.

अपने कपड़े वो ख़ुद पसंद करते. उन्हें सितारों का डिज़ाइनर से मदद लेना सख़्त नापसंद था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार