नसीर से क्यों नाराज़ हैं शबाना?

नसीरुद्दीन शाह फ़िलहाल अपनी आत्मकथा 'दैन वन डे' को लेकर चर्चा में हैं और इसे मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया को लेकर हैरान भी.

इस दमदार अभिनेता को नहीं लगा था कि लोग उनकी ज़िंदगी की कहानी जानने में इतनी दिलचस्प रखेंगे.

लेकिन क्या कोई अपने ज़िक्र को लेकर नाराज़ भी हुआ है?

मेरे इस सवाल पर नसीर कहते हैं, ''मुझसे तो किसी ने कहा नहीं पर सुना है शबाना नाराज़ हैं. उन्होंने ख़ुद तो मुझे संदेश नहीं भेजा पर पता चला है कि वह ख़ुश नहीं है."

'मैं फ़ोन नहीं करूंगा'

इमेज कॉपीरइट Star

भला शबाना की नाराज़गी की वजह क्या है ?

नसीर बोले, "शायद इसलिए कि मैंने उनकी थोड़ी बहुत आलोचना की है. लेकिन उनकी ख़ासी तारीफ़ लोग पहले ही कर चुके हो तो अब थोड़ी बुराई सहने का माद्दा भी होना चाहिए.''

नसीर ने ये साफ़ कर दिया है कि वो शबाना को फ़ोन कर उनकी नाराज़गी दूर करने की कोशिश कतई नहीं करने वाले.

बेटी से रिश्ता

इमेज कॉपीरइट hoture
Image caption नसीरुद्दीन शाह की आत्मकथा ख़ासी चर्चा में है.

अपनी ज़िंदगी में पिता से तनावपूर्ण रिश्ते झेलने वाले नसीर ख़ुद पहली बार जब बेटी के पिता बने तो इस सच को स्वीकार नहीं कर पाए.

उस रिश्ते को उन्होंने दशकों तक दरकिनार किया और बहुत बाद में बेटी हीबा उनके साथ रहने आई.

पिता और बेटी ने उस दूरी को कैसे कम किया.

इसके जवाब में नसीर कहते हैं, ''बहुत ज़्यादा मुश्किल था. इतना मुश्किल कि बयां नहीं कर सकता. अगर मेरी पत्नी रत्ना ने एक मध्यस्थ की भूमिका ना निभाई होती तो मेरे बस का नहीं था. मैं समझ नहीं पाता कि एक किशोर लड़की के मसले क्या होते हैं.''

नसीर ने बताया कि मुमकिन है, हीबा को उनसे शिक़ायत हो लेकिन उन्होंने इसका ज़िक्र कभी अपने पिता से किया नहीं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार