शाहरुख़ को डांस के नाम से टेंशन

  • 4 अक्तूबर 2014
अभि,ेक बच्चन, शाहरुख़ ख़ान इमेज कॉपीरइट Zee Group

साल 1995 में आई 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' ने शाहरुख़ ख़ान के करियर को एकदम से बुलंदी पर पहुंचा दिया और वो अपने समकालीन नायकों से कहीं बहुत आगे निकल गए.

यश चोपड़ा बैनर की और आदित्य चोपड़ा निर्देशित इस फ़िल्म को रिलीज़ हुए 19 साल हो गए और शाहरुख़ ख़ान इसे याद कर भावुक हो उठे.

अपनी आगामी फ़िल्म 'हैप्पी न्यू ईयर' के प्रमोशन पर शाहरुख़ ख़ान ने इसे अपने जीवन की यादगार फ़िल्म बताया.

पसंदीदा सीन

इमेज कॉपीरइट Yashraj Films
Image caption 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' में शाहरूख़ और काजोल की जोड़ी को काफ़ी पसंद किया गया.

फ़िल्म में अपना पसंदीदा सीन बताते हुए शाहरुख़ बोले, "एक सीन में जब अमरीश पुरी कबूतरों को दाना डाल रहे हैं तब मैं भी पहुंच जाता हूं और कबूतरों को दाना डालने लगता हूं. वो मेरा मनपसंद सीन है."

'हैप्पी न्यू ईयर' की निर्देशक फ़राह ख़ान, 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे' की कोरियोग्राफ़र थीं.

उन्होंने बताया, "इस फ़िल्म का गाना रुक जा ओ दिल दीवाने में मैंने शाहरुख़ को बिंदास डांस करने को कहा. एकदम शम्मी कपूर की तरह."

फ़रहा कहती हैं, "उन्होंने ये काम बख़ूबी किया. इस फ़िल्म में शाहरुख़ की ऊर्जा देखने लायक थी. वो बिंदास उछले हैं, कूदे हैं, गिरे हैं. मेरे ख़्याल से उन्हें शूटिंग के दौरान काफ़ी चोट भी लगी."

'डांस से घबराहट'

इमेज कॉपीरइट Red Chillies

शाहरुख़ ने माना कि आज भी वो डांस के नाम से घबरा जाते हैं. उन्होंने कहा कि डांस उनके लिए तनाव मिटाने का नहीं बल्कि तनाव लाने का ज़रिया है.

अपनी फ़िल्म 'हैप्पी न्यू ईयर' से जुड़ी उम्मीदों और बॉलीवुड में सौ करोड़ की रेस के सवाल पर शाहरुख़ परेशान हो उठते हैं.

वो कहते हैं, "अब तो हमें अपनी सीमाओं का दायरा बढ़ाना होगा. हमें कम से कम हॉलीवुड सुपरहिट अवतार के कुल व्यापार का कम से कम आधे तक तो पहुंचना होगा."

'हैप्पी न्यू ईयर' दीवाली पर रिलीज़ हो रही है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार