आमिर जैसा दिखने से नहीं मिला काम

  • 14 दिसंबर 2014
देवाशीष घोष, आमिर ख़ान इमेज कॉपीरइट DEVASHISH AND YASHRAJ FILMS

आमिर ख़ान बॉलीवुड के सबसे बड़े सितारों में से एक हैं और उनकी आने वाली फ़िल्म 'पीके' के बॉक्स ऑफिस पर छा जाने की संभावना जताई जा रही है.

लेकिन एक शख़्स है जिसे आमिर ख़ान जैसा दिखने की 'क़ीमत अदा' करनी पड़ रही है.

जहां शाहरुख़ ख़ान के हमशक्ल प्रशांत वाल्दे महीने में सात लाख रुपए तक कमा लेते हैं वहीं आमिर के हमशक्ल देवाशीष घोष को आमिर जैसा दिखने की वजह से काम नहीं मिलता.

ऐसा ख़ुद देवाशीष ने बीबीसी को बताया.

'काम नहीं मिलता'

इमेज कॉपीरइट DEVASHISH

असम के रहने वाले देवाशीष बताते हैं, "कई निर्देशक पहले तो मुझे काम देने के लिए हां कह देते हैं, लेकिन बाद में कहते हैं कि मैं आमिर ख़ान जैसा दिखता हूं, इसलिए मुझे काम नहीं दे सकते. जो लोग मुझे काम देते भी हैं, वो सिर्फ़ आमिर की नकल करने को कहते हैं."

क्या कभी आमिर की किसी फ़िल्म में काम करने का मौक़ा नहीं मिला.

देवाशीष बताते हैं, "एक तो आमिर साल में सिर्फ़ एक फ़िल्म करते हैं तो उस तरह के काम का स्कोप वैसे ही कम हो गया. धूम-3 में उनके बॉडी डबल का मौक़ा मिला लेकिन उस वक़्त मैं स्टेज शो के सिलसिले में बाहर था तो वह मौक़ा भी हाथ से निकल गया."

स्टेज शो

इमेज कॉपीरइट DEVASHISH

जब देवाशीष से उनकी कमाई के बारे में पूछा तो वह बोले, "कभी स्टेज शो वगैरह करने का मौक़ा मिला तो दो लाख रुपए तक मिल जाते हैं लेकिन काम कम है तो 40-50 हज़ार रुपए से ज़्यादा नहीं मिलता. उसी में जिम, मेकअप, अपना हेयर स्टाइल वगैरह सब मेंटेन करना पड़ता है."

देवाशीष ने 'पवित्र रिश्ता', 'बड़े अच्छे लगते हैं' और 'माता की चौकी' जैसे डेली सोप्स में काम भी किया है.

कब शुरू की नकल?

इमेज कॉपीरइट DEVASHISH

उन्होंने आमिर ख़ान की फ़िल्म ग़ुलाम 15 बार देखी और उसी के बाद से आमिर ख़ान के हाव-भाव सीखकर उनकी नकल उतारनी शुरू की.

एक दफ़ा जॉन अब्राहम और रानी मुखर्जी भी उन्हें आमिर ख़ान ही समझ बैठे थे.

फ़िलहाल देवाशीष भारत के अलावा दुबई, दक्षिण अफ़्रीका और अमरीका में अपने शोज़ करते हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार