किसी धर्म के ख़िलाफ़ नहीं है पीके: आमिर

  • 24 दिसंबर 2014
राजकुमार हीरानी, अनुष्का शर्मा, सचिन तेंदुलकर इमेज कॉपीरइट AFP

आमिर ख़ान ने अपनी फ़िल्म 'पीके' पर कथित हिंदूवादी संगठनों के लगाए गए तमाम आरोपों का जमकर बचाव किया है.

उन्होंने मीडिया से कहा, "पीके किसी धर्म के ख़िलाफ़ नहीं है. मैं तो सभी धर्मों का आदर करता हूं. पीके उन सभी लोगों के ख़िलाफ़ है जो धर्म की ग़लत व्याख्या करते हैं. धर्म के नाम पर लोगों का शोषण करने वालों के ख़िलाफ़ है पीके."

दरअसल कुछ लोग पीके पर 'हिंदू विरोधी' होने के आरोप लगा रहे हैं.

सोशल मीडिया पर 'लड़ाई'

इमेज कॉपीरइट UTV

ट्विटर पर #BoycottPK नाम का हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा है जिसमें लोगों से फ़िल्म का बहिष्कार करने की अपील की जा रही है.

हिंदू डिफेंस लीग नाम के एक संगठन ने तो आमिर ख़ान और राजकुमार हीरानी पर हिंदू धर्म की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए एफ़आईआर भी लिखाई.

हालांकि आमिर ने ऐसी किसी शिक़ायत की जानकारी होने से इनकार कर दिया.

वैसे #BoycottPK के जवाब में ट्विटर पर #WeSupportPK हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा था.

इमेज कॉपीरइट AFP

आमिर ने कहा, "मेरे मन में हिंदू धर्म के लिए आदर है. मेरी पहली पत्नी रीना की मां जब घर में हवन करातीं तो मैं भी उसमें शामिल होता था."

आमिर ख़ान ने हाल ही में पेशावर में स्कूली बच्चों पर हुए क़ातिलाना हमले का ज़िक्र करते हुए कहा, "किसी भी धर्म में ग़लत बात नहीं सिखाई गई है. लेकिन हमने अपने अपने स्वार्थ के हिसाब से उसकी ग़लत परिभाषा बना दी. धार्मिक उन्माद की वजह से ही पूरी दुनिया में हिंसा मची हुई है. हम उसी उन्माद के ख़िलाफ़ हैं."

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार