'पीके' पर उमड़ा मुख्यमंत्रियों का प्यार

'पीके' इमेज कॉपीरइट UTV

एक ही दिन में आमिर ख़ान की फ़िल्म 'पीके' को दो राजनेताओं का प्यार मिल गया.

ये हैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस.

बुधवार को अखिलेश यादव ने 'पीके' देखी और फ़िल्म से अभिभूत होकर इसके राज्य में टैक्स-फ्री होने का ऐलान कर दिया.

अखिलेश ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, "फ़िल्म बड़ी अच्छी है. लोग बेवजह का हंगामा मचा रहे हैं. मैंने फ़िल्म टैक्स-फ्री कर दी है. ताकि विरोध कर रहे लोग सस्ती दरों पर टिकट ख़रीदकर जाएं और देखें कि कितनी बढ़िया फ़िल्म है."

'नहीं होगी जांच'

इमेज कॉपीरइट UTV

वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने 'पीके' की किसी भी तरह की जांच से इनकार किया.

उन्होंने पत्रकारों से कहा, "ऐसी फ़िल्म जो सेंसर बोर्ड से पास हो चुकी है और सिनेमा हॉल में चल रही है उसकी जांच का महाराष्ट्र सरकार का कोई इरादा नहीं है."

इमेज कॉपीरइट HOTURE

मंगलवार को ही ख़बरें आईं थीं कि बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के फ़िल्म 'पीके' को लेकर विरोध प्रदर्शन के बाद महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्रालय ने फ़िल्म के कंटेट की जांच का आदेश दिया था.

बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ता पीके पर हिंदू विरोधी होने का आरोप लगा रहे हैं और दिल्ली, अहमदाबाद, जम्मू समेत कई शहरों में विरोध प्रदर्शन किया और फ़िल्म के पोस्टर फाड़े.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार