अगर प्रधानमंत्री होते, तुलना तब भी होती: फ़राह

  • 5 जनवरी 2015
सलमान ख़ान और फ़राह ख़ान इमेज कॉपीरइट colors

बिग-बॉस की पहचान बन चुके सलमान ख़ान ने इस धारावाहिक से विदाई ले ली है और उनकी जगह ली है मशहूर फ़िल्म निर्देशक फ़राह ख़ान ने.

'बिग बॉस 8' का नया ट्विस्ट 'हल्ला बोल' शुरू हो चुका है जिसमें बिग-बॉस के पुराने प्रतियोगी नज़र आ रहे हैं.

संभावना सेठ, महक चहल, राहुल महाजन और सना खान ने धमाकेदार एंट्री ली है, जबकि एजाज़ खान पहले से ही घर में मौजूद हैं.

इमेज कॉपीरइट PR

पांच पुराने प्रतियोगी और पांच चैलेंजर्स के बीच चल रही दिमागी भि‍ड़ंत में फ़राह को पिसना पड़ेगा.

तुलना तो होगी

फ़राह कहती हैं, "मैं बिग बॉस की प्रशंसक हूं और यह बहुत खुशी की बात है कि मुझे इसे होस्ट करने का मौक़ा मिला है. यह घर मेरे लिए 'डिज़्नीलैंड' और प्रतियोगी 'मिकी माउस' और 'डोनॉल्ड डक' हैं. मैं शो को अपने व्यक्ति‍त्व के अनुसार पूरा लुत्फ़ उठाते हुए होस्ट कर रही हूं और इसे ज़्यादा से ज़्यादा मनोरंजक बनाने की कोशि‍श भी है."

सलमान से खुद की तुलना के सवाल पर वह कहती हैं, "सलमान की जगह अगर इस शो को होस्ट करने के लिए प्रधानमंत्री को लाया जाता तो उनकी तुलना भी सलमान से होती."

वर्ष 2014 की सफल फ़िल्मों में से एक ‘हैप्पी न्यू ईयर’ की निर्देशक फ़राह ने यह साफ़ किया कि सलमान के पास वक़्त की कमी की वजह से ही इस शो की मेज़बानी उन्हें मिली.

लेकिन क्या फ़राह इस शो से हमेशा से के लिए जुड़ने वाली हैं?

इमेज कॉपीरइट Colors

इसके जवाब में वह हंस कर कहती हैं, "ये मालूम नहीं क्योंकि अगले सीज़न में भी सलमान शूटिंग के लिए बाहर जा रहे हैं या नहीं यह तो सलमान ही बता सकते हैं."

इस शो में ‘फ़राह की क्लासेस’ नाम से नए सेगमेंट की शुरुआत हुई है जिसमें फ़राह लोगों को यह सिखाने की कोशिश करेंगी कि उन्हें कैसे बर्ताव करना चाहिए.

शो को लगेगा तड़का

नए-पुराने प्रतियोगियों के मेल से शो को मनोरंजन का तड़का लग चुका है.

बिग-बॉस के घर आए नए प्रतियोगियों में एक राहुल महाजन और डिंपी की केमिस्ट्री शो को नया लव एंगल दे सकती है. वहीं संभावना सेठ और राहुल के बीच तनाव भी बहुत हद तक आने वाले दिनों की कहानी को साफ़ कर रहा है.

दर्शकों को इस सबसे बड़ा मज़ा आने वाला है लेकिन घर में पहले से रह रहे प्रतियोगियों के लिए मुश्किल वक्त होगा.

इमेज कॉपीरइट Colors

फ़राह ने कहा, "टीवी पर इसे देखना आसान है लेकिन मैं घर के अंदर मेहमान बन कर ही जाना चाहूंगी क्योंकि थोड़ी देर बाद ही बाहर आने का मन होने लगता है. मैं नकारात्मकता से दूर रहना चाहती हूं. इस घर में यह काफ़ी है. इस बात को झुठलाया नहीं जा सकता."

फ़राह ने माना कि खुद को खोजने और अपना नाम बनाने के लिए यह घर अच्छा मंच है. लेकिन होस्ट के तौर पर यह बात वह शर्त से कह सकती हैं कि उस मंच पर कभी नहीं जाना चाहेंगी.

होस्ट बनना मुश्किल

यूं तो फ़राह ने कई रिएलिटी शो में जज की कुर्सी संभाली है, लेकिन बिग बॉस को होस्ट करने का मौक़ा पहली बार मिला है. फ़राह का मानना है कि निर्णायक की भूमिका मेज़बान की भूमिका से काफ़ी आसान होती है.

इमेज कॉपीरइट ARPITA KHAN INSTAGRAM

सलमान की बहन अर्पिता की शादी में सलमान-शाहरुख़ की दोस्ती के बाद ये अटकलें लग रही हैं कि दोनों ख़ान फिर से साथ आ सकते हैं और फ़राह की दोस्ती दोनों से होने के कारण उनके बारे में चर्चा है कि वह ही दोनों ख़ानों का साथ लाएंगी.

फ़राह कहती हैं, "मैंने सलमान और शाहरूख़ के साथ कई गानों की कॉरियोग्राफ़ी की है और फ़िल्म का निर्देशन भी किया है. लेकिन दोनों को साथ लाना ज़रा मुश्किल है."

ग़ौरतलब है कि शाहरुख़ और सलमान आखिरी बार फ़राह ख़ान की फ़िल्म ओम शांति ओम में साथ नज़र आए थे.

सलमान की ग़ैरहाज़िरी में अपने ख़ास अंदाज से बिग-बॉस के ‘हल्ला-बोल’ को फ़राह कितना मनोरंजक बना पाती हैं, यह देखने वाली बात होगी.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार