'साथि‍या साथ निभाना' पहुंचा नंबर एक पर

साथिया साथ निभाना इमेज कॉपीरइट Star Plus

आइए जानते हैं, पिछले हफ़्ते इंडियन टेलीविज़न पर किस धारावाहिक ने किया कमाल और कौन रह गया पीछे. शुरुआत करते हैं फ़िक्शन शो से.

काफ़ी अरसे के बाद 'साथि‍या साथ निभाना' नंबर एक पर पंहुच गया. इस उछाल की वजह है, धारावाहिक में ली गई 10 साल की छलांग. यह छलांग काफ़ी फ़ायदेमंद साबित हुई.

नयापन का तड़का

इमेज कॉपीरइट Star Plus

फ़िलहाल शो का ट्रैक मोदी परिवार के बच्चों के इर्द-गिर्द रहेगा. इस धारावाहिक में लीप से पहले हमने देखा कि गोपी ने राधा को मार दिया है और वो जेल चली गई है.

लेकिन ताज़ा बदलाव के बाद हमने गोपी को मोदी परिवार में वापस देखा. ख़ैर, इस नए-नवेले बदलाव ने दर्शकों की दिलचस्पी तो बढ़ाई है, लेकिन इसे बरक़रार रखने के लिेए निर्माताओं को नयापन का तड़का लगाना होगा.

वहीं फ़िक्शन शो में दूसरे पायदान पर सूरज और संध्या की प्रेम कहानी 'दिया और बाती हम' रही.

संध्या की घर वापसी हुई यानि वो राठी परिवार का हिस्सा फिर बन गई. वहीं उसने एमिली को भी खोज निकाला.

'ख़तरों के खिलाड़ी' ने मारी बाज़ी

इमेज कॉपीरइट colors

एमिली दिल्ली में थी और उसी दौरान हुई दुर्घटना में वो अस्पताल पहुंच गई. अब सारी ग़लतफ़हमियां दूर हो गई हैं और वो घर आ गई है.

इस बार अभि और प्रज्ञा की प्रेम कहानी 'कुमकुम भाग्य' को दर्शकों ने तीसरे पायदान पर रखा है.

रियलिटी शो के रेस में पिछली बार की तरह इस बार भी 'ख़तरों के खिलाड़ी' ने ही बाज़ी मारी है. वहीं दूसरे नंबर पर 'कॉमेडी नाइट्स विद कपिल' रहा और तीसरा स्थान मिला 'मास्टर शेफ' को.

अब अगर बात करें चैनलों के दौड़ की, तो इस हफ़्ते पहले पायदान पर रहा 'स्टार प्लस', वहीं 'कलर्स' ने वापसी करते हुए दूसरा स्थान हासिल किया है. नंबर तीन की कुर्सी 'ज़ी' के हिस्से आई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार