दबंग मटन, चिकन तुस्सी ग्रेट और 'भाईजान'

भाईजान रेस्तरां

सलमान ख़ान को 'दबंग ख़ान' यूं ही नहीं कहते. उनके प्रशंसकों में उन्हें लेकर बहुत क्रेज़ है.

अपने फ़ेवरेट ख़ान के लिए कुछ भी कर देने को तैयार रहने वाले उनके प्रशंसकों ने इस बार सलमान ख़ान के लिए अपना प्यार दिख़ाने के लिए एक रेस्तरां खोला है, जिसकी थीम और कुछ नहीं, ख़ुद सलमान ख़ान हैं.

वैसे बॉलीवुड के दबंग स्टार सलमान ख़ान के इन दीवानों को ये नाम उनकी आनेवाली फिल्म 'बजरंगी भाईजान' से सूझा और इसी से प्रेरित होकर 'भाईजान' नाम का ये रेस्तरां उन्होंने खोला है.

रेस्तरां में मिलने वाले व्यंजनों के नाम भी सलमान की फ़िल्मों के नाम रखा गया है, जैसे दबंग चिकन, दबंग-2 से दबंग मटन, चुलबुल चावल, अंडे अपने अपने, चिकन तुस्सी ग्रेट हो और ऐसे ही कई व्यंजन आपको यहां मिलेंगे जो आपको सलमान कि फ़िल्मों की याद दिलाएंगे.

इस रेस्तरां कि दीवार पर उनकी फ़िल्म के डायलॉग जैसे 'एक बार जो मैंने कमिटमेंट कर दी... ', 'दोस्ती का एक उसूल है मैडम, नो सॉरी नो थैंक्यू' लिखा हुआ है.

यहां सलमान की फ़िल्मों की तस्वीरें लगीं है जिन पर उनकी फ़िल्मों की रिलीज़ डेट भी लिखी हुई है, लेकिन ख़ास बात ये है कि इन तस्वीरों के साथ ही लगे हैं दस रुपये के नोट जिनका सीक्वेंस नंबर वही है जो रीलीज़ डेट है.

रेस्तरां मालिक राहुल कनाल ने बताया कि उन्होनें अपने तीन दोस्‍तों के साथ मिलकर इस आइडिया पर काम किया है.

एक अन्‍य पार्टनर तबरेज शेख बताते हैं, "मैं और मेरे पार्टनर्स बांद्रा में ही रहते हैं और हम उसी स्कूल से पढ़े हैं, जहाँ से हमारे भाईजान सलमान ख़ान ने पढाई की है उस स्कूल का नाम है सेंट स्टेनिस्लॉस हाई स्कूल."

वो कहते हैं, "इस रेस्तरां में एक बॉलकनी भी बनाई है जो हूबहू सलमान ख़ान के घर गैलेक्सी अपार्टमेंट से मिलती है."

शेख के अनुसार, "इस बॉलकनी में ब्रेसलेट से सजा हुआ टेबल है, जो उनके ही ब्रेसलेट से मिलता जुलता है."

इस रेस्तरां को देखने और यहाँ का ख़ाना चखने के लिए सलमान ख़ान के फ़ैन मुंबई से ही नहीं बल्कि असम, दिल्ली, पंजाब और तो और दुबई से आ रहे हैं.

भाईजान में काम कर रहे सभी कर्मचारियों को अब खुद सलमान ख़ान के आने का इंतज़ार है.

उन्होंने रेस्तरां पर सलमान ख़ान की बड़ी पेंटिंग बनवाई हुई है और उनकी इच्छा है सलमान ख़ान यहाँ आएं और यहाँ के ख़ाने का लुत्फ़ उठाने के बाद इस पेंटिंग पर अपना ऑटोग्राफ दें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार