बॉलीवुड:मोटों को भी मिल रहा मोटा पैसा

राम कपूर इमेज कॉपीरइट Sajid Khan

यशराज बैनर की हालिया रिलीज़ 'दम लगा के हईशा' में भारी डीलडौल वाली भूमि पेंडनेकर ने फ़िल्म के हल्के फुल्के हीरो आयुष्मान खुराना के साथ रोमांस किया और दर्शकों ने इस जोड़ी को पसंद भी किया.

भारी डील डौल के बाद भी दर्शकों के दिल में छाप छोड़ने वाली भूमि अकेली नहीं हैं.

न छरहरी काया न ही हाथ में मछली फिर भी कुछ अभिनेता और अभिनेत्रियां दर्शकों को लुभा रहे हैं.

क्या एक बार फिर से मोटे हीरो हीरोईनों का वक़्त लौट आया है या फिर ये सिर्फ़ भ्रम है जानने की कोशिश की बीबीसी हिंदी ने.

मोटापा फ़ैशन में ?

एक समय ऐसा था जब मोटापा या बढ़ा हुआ वज़न बॉलीवुड में आपके करियर के आड़े कभी नहीं आता था. बीते ज़माने में शम्मी कपूर, संजीव कुमार और भगवान दादा जैसे हीरो रहे जिनकी सेहत किसी को भी मात दे सकती थी वहीं अभिनेत्रियों में भी वैजयंती माला, गीता बाली जैसी अभिनेत्रियां भी छरहरी तो नहीं ही थीं.

80 के दशक मे तो गोविंदा, ऋषि कपूर जैसे सितारे अपने मोटापे के बाद भी सिल्वर स्क्रीन पर थिरकते नज़र आए लेकिन फिर संजय दत्त और सलमान ख़ान के आने के बाद से ये ट्रेंड बदल गया.

और फिर शाहरुख़ ख़ान ने फ़िल्म ओम शांति ओम से सिक्स पैक का चलन ही शुरू कर दिया.

इमेज कॉपीरइट

पर अब लगता है कि मोटापा फ़ैशन में लौट रहा है क्योंकि कई मोटे कलाकारों ने अपने अभिनय के दम पर फिल्म इंडस्ट्री मे अपनी जगह बना ली है.

किरदार की मांग

वैसे तो मोटापा आमतौर पर किरदार की मांग कि तरह से दिखाया जाता है लेकिन कुछ कलाकार ऐसे हैं जिन्हें काम ही उनके मोटापे की वजह से मिलता है.

अपने वज़न के लिए मशहूर राम कपूर कहते हैं, "वज़न कम या ज्यादा से ज़रूरी होता है टैलेंट में वज़न होना. मैं अपनी एक्टिंग से छाप छोड़ रहा हूं और यही ज़रूरी है."

इमेज कॉपीरइट Universal PR

वहीं फ़िल्म 'हे ब्रो' में हीरो बने कोरियोग्राफ़र गणेश आचार्य कहते हैं, "मैं जैसा हूं उसमें में अच्छा लगता हूं और यहीं मेरा प्लस पाइंट है. वज़न से मेरे टैलेंट पर फ़र्क नहीं पड़ना चाहिए."

कभी किसी ज़माने में काफ़ी भारी रहे छोटे पर्दे पर एक धारावाहिक 'तारक मेहता' में आने वाले दिलीप जोशी ने बीबीसी से कहा, "वज़न ग्लैमर इंडस्ट्री में पहचान दिलाने में आड़े आ सकता है अगर आप यहां हीरो बनने आए हैं. लेकिन अगर आप छोटे पर्दे पर हैं या चरित्र भूमिका में है तो ये आपके लिए वरदान हो सकता है.

इमेज कॉपीरइट DILEEP JOSHI

वो कहते हैं "अगर आप कॉमिक रोल में हैं तो आपको वज़न ही सफ़लता की सीढियों पर ले जा सकता है."

क्यों है मोटापा पसंद?

वैसे मोटे एक्टर्स की लोकप्रियता के पीछे उनकी योग्यता के अलावा भी कई कारण हैं.

इमेज कॉपीरइट Ayush

मुंबई स्थित इमेज कन्सल्टेंट नेहा गुप्ता का कहना है, "मोटे कलाकार दर्शकों को काफ़ी क्यूट लगते है और जिस तरह वो अपनी इमेज को कैरी करते हैं वही उनके लिए स्टाइल स्टेटमेंट बन जाता है."

नेहा बताती हैं, "सोनाक्षी और विद्या बालन जैसी अभिनेत्रियां भी यहां हैं जिन्होंने कमाल का अभिनय किया है और जिनका वज़न भी अच्छा ख़ासा है लेकिन वो जिस तरह से लोगों के सामने आती हैं लोग उनसे मुंह नहीं फेर पाते."

इमेज कॉपीरइट Hoture

टेलिविज़न एक्टर और राम कपूर की पत्नी गौतमी कपूर कहती हैं, "मोटापा सच्चाई है, हम जानते हैं कि हमारे घर में हमारे पति, हमारे पिता कैसे हैं. वो सिक्स पैक्स में नहीं होते और यही सच्चाई मोटे लोगों के पक्ष में जाती है. वो वास्तविकता के बेहद करीब नज़र आते हैं."

फ़िगर ज़ीरो और सिक्स पैक्स के पीछे भागती दुनिया के लिए ऐसा लगने लगा है कि मोटापा अच्छा है और आम तौर पर सेहत के लिए सचेत रहने वाली मायानगरी के कुछ लोग अब मोटापे को वरदान मानने लगे हैं क्योंकि यहां जो बिकता है वो दिखता है औऱ लगता है कि मोटापा बिक रहा है, दर्शकों को पसंद आ रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार