सात 'सितारे' जिन्होंने कचहरी के चक्कर काटे

सलमान ख़ान इमेज कॉपीरइट Getty

अभिनेता सलमान ख़ान के लिए छह मई का दिन काफ़ी अहमियत रखता है क्योंकि इस दिन मुंबई की एक सत्र अदालत में उन पर साल 2002 से चल रहे हिट एंड रन मामले पर फ़ैसला सुनाया जाएगा.

भारत के कई ऐसे सेलिब्रिटी हैं जो किसी न किसी आरोप में अदालतों के चक्कर काट रहे हैं और कुछ एक तो जेल की हवा भी खा चुके हैं.

सलमान के लिए यह पहला मौका नहीं है जब वह मुसीबतों में फ़ंसे हैं. जोधपुर कि एक अदालत में भी उनके ख़िलाफ़ आर्म्स एक्ट के तहत मुक़दमा चल रहा है.

लेकिन सलमान बॉलीवुड के ऐसे अकेले सितारे नहीं हैं जिनके ख़िलाफ़ ऐसे मामले चल रहे हों. हालाँकि ये सभी सितारे ख़ुद को बेगुनाह बताते हैं.

संजय दत्त

इमेज कॉपीरइट AFP AFP

परेशानी में पड़े सितारों में सबसे ऊपर नाम आता है संजय दत्त का. संजय दत्त जो संयोग से सलमान के अच्छे दोस्त भी हैं, फ़िलहाल पुणे के यरवदा जेल में टाडा कानून के तहत सज़ा काट रहे हैं.

पचपन वर्षीय संजय को 1993 में मुंबई में हुए सीरियल बम धमाकों के दौरान अवैध हथियार रखने के लिए गिरफ़्तार किया गया था. अप्रैल 1993 में गिरफ़्तार किए जाने के बाद वह अक्तूबर 1995 में बेल पर बाहर आए लेकिन दिसंबर में उन्हें फिर गिरफ़्तार कर लिया गया.

इस मामले में दत्त कई बार जेल गए और फिर 16 मई, 2013 को टाडा कानून के तहत उन्हें पांच साल की सज़ा हुई. इन पांच साल में से दत्त 18 महीने की जेल काट चुके थे इसलिए उन्हें साढ़े तीन साल की कैद काटनी है.

सलमान के साथ संजय की गहरी दोस्ती है और संजय और सलमान साथ में चार फ़िल्मों में काम कर चुके हैं जिनमें सबसे लोकप्रिय थी साजन और साथ ही दोनों बिग बॉस सीज़न 5 को साथ में होस्ट कर चुके हैं.

सैफ़ अली ख़ान

इमेज कॉपीरइट AFP

सलमान के एक और दोस्त सैफ़ अली ख़ान भी सलमान के साथ उस विवादित केस का हिस्सा थे जिसमें सलमान ख़ान ने राजस्थान में काले हिरण का शिकार किया था.

सैफ़ और सलमान पर आरोप है कि साल 1998 में फ़िल्म हम साथ-साथ हैं कि शूटिंग के दौरान शिकार पर गए थे जहां उन्होंने एक काले हिरण को मारा था. इस आरोप के घेरे में उनके साथ तब्बू, सोनाली बेंद्रे और नीलम भी थीं.

इसके बाद साल 2004 में उन पर हवाला के ज़रिए एक महंगी कार ख़रीदने का आरोप भी है, जिसमें जांच चल रही है.

सैफ़ बड़ी मुसीबत में तब आए जब साल 2012 में उन पर मुंबई के ताज होटल में एक बिजनेसमैन से हाथापाई के आरोप लगे. सैफ़ अभी भी इस केस से जूझ रहे हैं.

सलमान और सैफ़ अच्छे दोस्त हैं लेकिन उन्होंने 'हम साथ साथ हैं' के अलावा कभी साथ में काम नहीं किया.

शाहरुख़ खान

इमेज कॉपीरइट HOTURE

शाहरूख़ ख़ान वैसे तो एक साफ़ छवि के अभिनेता हैं लेकिन दो मौके ऐसे भी आए हैं जब उन्हें कचहरी के चक्कर लगाने पड़े हैं.

पहला 2012 में वानखेड़े स्टेडियम में उनके सुरक्षाकर्मियों के साथ हुए झगड़े से जुड़ा है. इस मामले के बाद से शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम में आने पर प्रतिबंध है.

साथ ही सुरक्षाकर्मियों ने उन पर धमकी और अभद्र भाषा का इस्तेमाल का आरोप लगाया है.

दूसरा मुद्दा 1993 में आई फ़िल्म 'माया मेमसाब' के दौरान एक पत्रकार को शाहरूख़ के कथित तौर पर धमकी देने का है. इस मुद्दे के चलते शाहरूख़ को काफ़ी देर थाने में बितानी पड़ी थी जब तक कि पत्रकार से उनकी सुलह नहीं हो गई थी.

नवजोत सिंह सिद्धू

इमेज कॉपीरइट Big Boss

भारत के स्टार ओपनर रहे और अब टीवी पर्सनैलिटी नवजोत सिंह सिद्धू पर 1988 में गैर इरादतन हत्या का मामला चला था. सिद्धू पर आरोप था कि एक पार्किंग लॉट में हुए झगड़े में उन्होंने एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी.

सिद्धू को इस आरोप के चलते जेल भी जाना पड़ा था और साल 2006 में उन्हें तीन साल की सज़ा भी हुई थी.

सिद्धू ने इस सज़ा के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी और सुप्रीम कोर्ट ने इस सज़ा पर स्टे लगाया था.

विंदू दारा सिंह

इमेज कॉपीरइट COLOR PR

क्रिकेट और बॉलीवुड का कॉकटेल पुराना है लेकिन इसका सबसे विवादित उदाहरण दिखा साल 2013 में जब विंदू दारा सिंह फ़िक्सिंग के आरोप में फ़ंसे.

दारा सिंह के बेटे विंदू को साल 2009 में बिग बॉस जीतने पर काफ़ी लोकप्रियता मिली थी लेकिन साल 2013 में मैच फ़िक्सिंग में नाम आने पर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया.

इस मैच फ़िक्सिंग कांड के चलते आईपीएल जैसे टूर्नामेंट की साख को गहरा धक्का लगा साथ ही कभी विंदू के दोस्त रहे महेंद्र सिंह धोनी ने भी उनसे दूरियां बढ़ा लीं.

फ़रदीन ख़ान

फ़िल्म जंगल और प्यार तूने क्या किया की सफ़लता को एंजॉय कर रहे फ़रदीन ख़ान की साख को तब गहरा झटका लगा जब मुंबई की नारकोटिक्स डिपार्टमेंट पुलिस ने उन्हें गिरफ़्तार किया.

फ़रदीन को साल 2001 में उनकी फ़िल्म प्यार तूने क्या किया रिलीज़ होने के एक दिन बाद ही कोकीन रखने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया.

हालांकि वह इस आरोप से बाइज्ज़त बरी हो गए थे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार