मुंबई में समलैंगिकों के लिए फिल्म फेस्टिवल

  • 23 मई 2015

मुंबई में होने वाले अंतरराष्ट्रीय 'क्विअर फ़िल्म फेस्टिवल कशिश 2015' में इस बार विभिन्न देशों की 45 फ़िल्में दिखाई जाएंगी.

ये फिल्मोत्सव दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा एलजीबीटी यानी समलैंगिकों का फ़िल्म फेस्टिवल माना जाता है.

27 से 31 मई तक चलने वाले इस फेस्टिवल में पैनल डिस्कशन्स और बुक रिंडींग सेशन भी रखे गए हैं.

क्विअर आइडेन्टिटी पर बहस

फेस्टिवल के निदेशक श्रीधर रंगायन ने बीबीसी हिंदी को बताया, ''रीच आउट, टच हार्ट्स’ थीम के साथ शुरू होने वाले फेस्टिवल में ऑस्ट्रेलिया केंन्द्रबिंदु में है क्योंकि वहां से 22 फिल्में इस फेस्टिवल का हिस्सा होंगी."

स्टीफन इलियोट की दि एडवेन्चर्स ऑफ प्रिस्सिलिया, क्विन ऑफ डेज़र्ट (1994) आना कोक्किनॉस की हैड ओन (1998) और डेन कासल की न्यूकासल (2008) जैसी औस्ट्रेलिया की क्लासिक फ़िल्में इस फेस्टिवल की विशेषताएं हैं.

फेस्टिवल के अंत में डेनियल रिबेरिओ की चर्चित फ़िल्म 'दि वे ही लुक्स' दिखाई जाएगी.

फ़िल्म निर्देशक अभिनव सिन्हा, चित्रा पालेकर, अभिनेता आमिर बशीर, मेघना मलिक और कॉलमिस्ट मालविका संघवी 'कशिश 2015' के ज्यूरी पैनल का हिस्सा है.

अभिनव सिन्हा का कहना था, ''समाज को किसी भी प्रकार के बदलाव को स्वीकार करने में वक़्त लगता है. कशिश जैसे फेस्टिवल उस बदलाव का अहम हिस्सा बनते हैं. एक निर्देशक के तौर पर इन फ़िल्मों मे एलजीबीटी के मुद्दे को किस संवेदनशीलता के साथ दिखाया गया उसे देखने में मुझे रुचि है.''

ना करे अलग बरताव

चित्रा पालेकर खुद एक समलैंगिक बेटी की मां है. उन्होंने कहा, ''हमें उस दिन का इंतज़ार है जब एलजीबीटी से जुड़ी फ़िल्में दिखाने के लिए अलग फेस्टिवल का आयोजन नहीं करना पडेगा.''

इस फेस्टिवल में जिन फिल्मों को दिखाया जाएगा उनमें एक फिल्म 'किस्सा' है. इस फिल्म में एक ऐसे शख़्स की कहानी है जो अपनी बेटी को बेटा बनाकर पालता है.

'जयजयकार' किन्नरों के जीवन पर आधारित है तो 'ईमेज-छबी' एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जिसके लिए नाचना जुनून है और वो महिला का रूप धारण करके अपने शौक और परिवार का पेट पालता है.

ये एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जो इस डर में जीता है कि अगर इस रूप के बारे में उसके परिवार को पता चल गया तो क्या होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार