'तनु वेड्स मनु... को लेकर बहुत टेंशन थी'

इमेज कॉपीरइट raindrop media

बॉलीवुड में कुछ फ़िल्में अभिनेताओं के नाम पर ही अच्छा व्यापार कर लेती हैं, जैसे दबंग, बॉडीगॉर्ड, एक था टाइगर, हैप्पी न्यू ईयर, हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया वग़ैरह.

लेकिन पिछले कुछ सालों में बॉलीवुड में अभिनेताओं के नाम पर चलने वाली फ़िल्मों के साथ-साथ ऐसी फ़िल्मों ने भी अच्छा व्यापार किया है जो कहानी प्रधान थीं, जैसे, हाइवे, क्वीन, कहानी, शाहिद, फ़िल्मिस्तान, हैदर आदि.

पिछले हफ्ते रिलीज़ हुई फिल्म 'तनु वेड्स मनु रिटर्न्स' ने बॉक्स ऑफिस पर चार दिन में 47 करोड़ का व्यापार किया. दर्शकों के साथ साथ समीक्षकों को भी यह फ़िल्म बहुत पसंद आई.

दर्शकों की पसंद

इमेज कॉपीरइट Eros

इसके निर्देशक आनंद एल राय का कहना है, "फ़िल्म को लेकर टेंशन इतनी ही थी कि क्या दर्शकों को यह फ़िल्म पसंद आएगी? इस बात की ख़ुशी है कि दर्शक परिवार के साथ इसका मज़ा ले रहे हैं."

बॉलीवुड में 'कंटेंट' प्रधान फ़िल्में हमेशा से अपने वज़ूद के लिए लड़ती आई हैं, लेकिन पिछले कुछ सालों में कहानी पर आधारित फ़िल्मों का बॉलीवुड में व्यापार बेहतर हुआ है.

इस साल बेबी, बदलापुर, दम लगाके हइशा, एनएच 10 और पीकू जैसी कहानी प्रधान फ़िल्मों ने न केवल अच्छा कारोबार किया बल्कि दर्शकों के दिलों में अपनी जगह भी बनाई.

तनु वेड्स मनु रिटर्न्स के लेखक हिमांशु शर्मा कहते हैं, "कंटेंट प्रधान फ़िल्में बनाने की इच्छा अब सिर्फ निर्देशक की ही नहीं है. बल्कि फ़िल्म प्रोडक्शन हाउस खुद अच्छे कंटेंट की तलाश में रहते हैं. इसकी वजह है दर्शकों में आया बदलाव."

फ़िल्म के किरदार

इमेज कॉपीरइट Eros

तनु वेड्स मनु, रांझणा और तनु वेड्स मनु रिटर्न्स से फ़िल्म इंडस्ट्री में हैट्रिक बनाने वाले आनंद एल राय कहते हैं, "फ़िल्में सिर्फ़ दो क़िरदारों से नहीं बनतीं, फ़िल्म में और भी क़िरदार होते हैं. एक निर्देशक के लिए यह ज़रूरी होता है कि छोटे से छोटे क़िरदार को वह यह महसूस करवाए कि उसके बगैर फ़िल्म अधूरी है."

वो कहते हैं, "हम स्क्रिप्ट लेवल पर ही इन क़िरदारों को तवज्जो देते हैं. मुझे ख़ुशी है की मेरी फ़िल्मों के छोटे क़िरदारों को भी लोग बेहद पसंद करते हैं."

आनंद राय कहते हैं कि वो कभी अभिनेता के लिए फ़िल्म नहीं बनाएंगे, उनकी कहानी में जो अभिनेता फिट बैठेगा वो उसके पास जाएंगे.

आनंद राय ने हाल में ही अभिनेत्री करीना कपूर से मुलाकात की थी.

वो कहते हैं, "मैं एक निर्देशक हूँ. अपनी कहानियों के इर्द-गिर्द क़िरदार ढूंढता हूँ. एक इंसान के नाते मुझे कुछ कलाकारों से मिलने की इच्छा होती है, ताकि उन्हें जान लूं और किसी क़िरदार का बीज उनसे मिल जाए."

इमेज कॉपीरइट Eros

को कहते है कि करीना कपूर बेहतरीन अभिनेत्री हैं और बहुत ही खुशमिज़ाज़ इंसान हैं. फिलहाल मेरे पास कोई स्क्रिप्ट नहीं है पर आने वाले वक़्त में मैं उनके साथ ज़रूर काम करना चाहता हूँ.

रांझणा छोटे परदे पर !

आनंद राय की 2013 की हिट फ़िल्म रांझणा में सोनम कपूर और साउथ के सुपरस्टार धनुष मुख्य भूमिका में थे.

इमेज कॉपीरइट Eros

आनंद राय अब इस हिट फ़िल्म को टीवी सीरियल में बदलने जा रहे हैं.

आनंद कहते है, "रांझणा मेरे दिल के बहुत क़रीब है. जब मैं ये फ़िल्म बना रहा था तभी मुझे समझ आ गया था कि इस फ़िल्म का सीक्वल नहीं बन सकता. फ़िल्म के क़िरदार बिंदिया और मुरारी ज़बरदस्त क़िरदार थे. पर उन्हें फ़िल्म में ज़्यादा उभार नहीं पाया."

आनंद कहते हैं, "मैं इन क़िरदारों को रांझणा टीवी सीरियल में उभारूंगा, हालांकि टीवी सीरियल में क़िरदार सभी नए होंगे और जो अभिनेता इन क़िरदारों को छोटे परदे पर निभाएंगे उनकी मदद के लिए फ़िल्म रांझणा के क़िरदार वर्कशॉप करेंगे."

रांझणा के क़िरदारों की छवि दर्शकों के दिलों से मिटा पाना मुश्किल होगा, इस सवाल पर आनंद राय कहते हैं कि वो आसान काम करना भी नहीं चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार