'दुर्भाग्य है कि दर्शकों को कोई नहीं पूछता'

इमेज कॉपीरइट Fox

हाल ही में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'हमारी अधूरी कहानी' के साथ जो ख़ास बात जुड़ी है, वो है इस फ़िल्म के लेखक, महेश भट्ट.

फ़िल्मों के निर्देशन से छुट्टी ले चुके महेश भट्ट ने निर्देशक मोहित सूरी की इस फ़िल्म की कहानी लिखने के लिए 2 साल बाद कलम उठाया. बतौर लेखक उनकी आखिरी फ़िल्म 'मर्डर 3' थी जो साल 2013 में रिलीज़ हुई थी.

हमारी अधूरी कहानी

इमेज कॉपीरइट Fox

इस फ़िल्म की पटकथा मे उन्होंने अपने पिता नानाभाई भट्ट की ज़िंदगी के अंश को शामिल किया है.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में महेश भट्ट ने बताया, "राजकुमार राव के किरदार ने जो आखिर में किया वो मेरी सौतेली माँ ने मेरे पिता के मरने के बाद किया था. मेरी माँ और पिता को मैंने मेरी सौतेली माँ की ज़िंदगी से हासिल किया."

हालांकि इस फ़िल्म की समीक्षको ने काफ़ी आलोचना की लेकिन महेश भट्ट इससे विचलित नज़र नहीं आए, वो कहते हैं, "क्रिटिक ना फ़िल्म बनाते है और ना ही फ़िल्म की तक़दीर लिखते है वो बेचारे पेशेवर लोग है और फ़िल्म को वैसे देखते है जैसे वो होते है."

महेश ने कहा, "फ़िल्म समीक्षक अतीत में कई बार गलत साबित हुए है. दुर्भाग्य से कुछ अंग्रेजी में लिखने वाले समीक्षकों को तवज्जो मिलती है न की लाखों लोग जो फ़िल्म देखने जा रहे है."

प्रगतिशील महिलाएँ भी कैद

महेश भट्ट अपनी कहानी में भारतीय महिलाओ की आज़ादी की वकालत भी कर रहे हैं, " हमारे समाज में, मुल्क में, पुरूष-महिला में असामनता है. तो ज़ाहिर सी बात है की फ़िल्म इंडस्ट्री में भी ये मौजूद रहेगी."

महेश के अनुसार प्रगतिशील महिलांए भी कैद में हैं, "हमारे यहां मॉडर्न और प्रगतिशील महिलाओं की असल ज़िंदगी में क्या होता है उससे मैं वाकिफ हूँ. बातों से क्रांति नहीं होती, ज़िंदगी जीनी पड़ती है. बहुत सारी महिलाएं मैंने देखी है जो वैसे तो ख़ुद को दूसरी महिलाओं से अलग और आज़ाद मानती हैं लेकिन वो भी तहज़ीब से अपने कैदखाने में है."

बातचीत पर विराम तब लगा जब महेश भट्ट की 1984 की सोशल ड्रामा फ़िल्म सारांश के रीमेक पर बात चली.

इमेज कॉपीरइट Mahesh Bhatt

बीबीसी से ख़ास बातचीत में महेश भट्ट ने स्पष्ट किया, "सारांश दोबारा नहीं बनेगी. ये एक क्लासिक है जिसे दोबारा बनाना भी नहीं चाहिए."

वैसे महेश की बड़ी बेटी पूजा भट्ट ने पिछले साल घोषणा की थी की फ़िल्म सारांश का रीमेक बनेगा और हंसल मेहता फ़िल्म का निर्देशन करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार