फ़ैंटम: 'हाफ़िज़ सईद पहले ख़ुद को देखें, फिर नसीहत दें'

  • 11 अगस्त 2015
इमेज कॉपीरइट SPICE

बॉलीवुड फ़िल्म निर्देशक कबीर ख़ान की नई फ़िल्म 'फ़ैंटम' पाकिस्तान और आतंकवाद के मुद्दे को लेकर चर्चा में है.

इस फ़िल्म में सैफ़़ अली ख़ान और कटरीना कैफ़ मुख्य भूमिका में हैं. इस फ़िल्म को पाकिस्तान में दिखाने पर रोक लगाने के लिए हाफ़िज़ सईद ने पाकिस्तान की अदालत में अपील की है.

भारत सरकार हाफ़िज़ सईद पर 26/11 में हुए मुंबई हमलों का मास्टरमाईंड होने का आरोप लगाती है.

बदनामी

हाफ़िज़ सईद का मानना है कि इस फ़िल्म में उनको बदनाम करने की कोशिश की जा रही है.

इसीलिए उन्होंने पाकिस्तान की सरकार से देशभर में इस फ़िल्म के प्रदर्शन पर रोक लगाने की मांग की है.

फैंटम के हीरो सैफ़़ ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा,"मैं जानता था कि ये फ़िल्म पाकिस्तान में बैन हो सकती है और इस अपील पर मुझे कोई हैरानी नहीं है. इससे पहले भी संवेदनशील मुद्दों या पाकिस्तान की कथित तौर पर ख़राब छवि दिखाने वाली फ़िल्मों पर बैन लगता रहा है."

हाफ़िज़ सईद की ओर ईशारा करते हुए सैफ़ कहते हैं, "26/11 के बाद सब जानते हैं कि उस घटना का कौन जि़म्मेदार है और उसके पीछे किसका हाथ है. साथ ही, हम सबको पता है कि भारत में आसामाजिक माहौल पैदा करने वालों में से कई पाकिस्तान में रहते हैं और इस बात में कोई रहस्य नहीं है."

पहले खुद को देखें

सैफ़़ की बात को आगे बढ़ाते हुए निर्देशक कबीर ख़ान ने भी हाफ़िज़ सईद को ख़ुद के गिरेबान में झांकने की सलाह दी.

वो कहते हैं,"हाफ़िज़ सईद ने लाहौर हाई कोर्ट में हमारी फ़िल्म को बैन करने की पेटिशन दायर की है. आश्चर्य इस बात पर है कि एक चरमपंथी जिसकी तलाश पूरे विश्व में हो रही है, वह हमारी फ़िल्म को नफ़रत फ़ैलाने वाली फ़िल्म बता रहा है. मेरी सलाह है कि पहले वह खुद अपने आप को देख लें फिर दूसरो को नसीहत दें."

सैफ़़ ने पाकिस्तान सरकार से उम्मीद जताई कि पाकिस्तान सेंसर बोर्ड पहले एक बार इस फ़िल्म को देखेगा और फिर अपना फ़ैसला लेगा.

फ़ैंटम की भारत में रीलीज़ होने की तारीख़ 28 अगस्त है.

(बीबीसी हिन्दी केएंड्रॉएड ऐपके लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार