सचिन नहीं, अमिताभ ही होंगे एंबेस्डर

इमेज कॉपीरइट Hoture

बीते दिनों महाराष्ट्र सरकार ने पूरे ज़ोर शोर से अमिताभ बच्चन को महाराष्ट्र सरकार के 'बाघ बचाओ आंदोलन' का एंबेस्डर बनाने का ऐलान किया.

लेकिन इसी भूमिका के लिए राज्य सरकार ने पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को भी चिट्ठी भेजी थी और उन्होंने भी एंबेसडर बनने के लिए 'हां' भी कर दी थी.

अब महाराष्ट्र सरकार के सामने यह दुविधा है कि 'महानायक' को चुने या 'मास्टर ब्लास्टर' को.

हालांकि अधिकारियों के अनुसार अमिताभ ने पहले अपनी मंज़ूरी दी, इसीलिए वही एंबेसडर होंगे.

अमिताभ ही एंबेसडर

अमिताभ की मंज़ूरी के बाद महाराष्ट्र सरकार ने 'एंबेसडर' के रूप में उनके नाम की घोषणा कर दी और तभी सचिन का भी पत्र आ गया.

किसी फ़िल्मी सिचुएशन जैसी इस स्थिति पर महाराष्ट्र वन विभाग ने कहा है,"चूंकि अमिताभ जी ने अपनी मंज़ूरी पहले दे दी थी, इसलिए बाघ सरंक्षण अभियान के एंबेस्डर वही रहेंगे लेकिन सचिन के लिए भी हमारे पास एक प्रोजेक्ट है."

दोनों ही हस्तियों की ओर से महाराष्ट्र सरकार को मिले पत्र की प्रति मीडिया को दिखाते हुए अधिकारियों ने भी यह भी बताया कि अमिताभ के पत्र में जहां पूर्ण स्वीकृति है, वहीं सचिन के पत्र में अभी एक बार मिलने का आग्रह किया गया है.

ऐसे में, अधिकारी कह रहे हैं कि अमिताभ को न करने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार