एंकरिंग में पास, पर फ़िल्मों में क्या हाल?

इमेज कॉपीरइट hema upadhyay

कई टेलीविज़न 'एंकर' बॉलीवुड में अपनी किस्मत आजमाते हैं और फ़िल्मों में कामयाब होने की जद्दोजहद करते हैं.

पर उनके लिए सबसे मुश्किल होता है अपनी 'एंकर' की छवि से बाहर निकलना.

हाल ही में टीवी के एक मशहूर एंकर मनीष पॉल ने मनोरंजन इंडस्ट्री में 10 साल पूरे किए. फ़िल्मोें में काम करने की कोशिश करने वाले एंकरों की क्या स्थिति है, आएँ जानते हैंं:

मनीष पॉल

दिल्ली के रहने वाले मनीष को 2002 में मुंबई में स्टार प्लस के एक गेम शो 'संडे टैंगो' को पेश करने का मौका मिला.

इस शो के बाद उन्होंने मुंबई के एक निजी एफ़ एम चैनल पर बतौर रेडियो जॉकी भी काम किया. लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा सफलता मिली बतौर एंकर.

'कॉमेडी सर्कस', 'डांस इंडिया डांस' और 'झलक दिखला जा' जैसे शो टेलीविज़न पर पेश कर चुके मनीष 2013 में रिलीज हुई फ़िल्म 'मिक्की वायरस' में मुख्य भूमिका में थे. पर वह फ़िल्म कब आई और चली गई, किसी को पता भी नहीं चला.

अभिषेक शर्मा की फ़िल्म 'तेरे बिन लादेन' से दोबारा फ़िल्मी पर्दे पर आए मनीष कहते हैं,"मुझे अफ़सोस नहीं है की मेरी छवि एंकर की है, मुझे ख़ुशी है की बॉलीवुड के दिग्गज मुझे मेरे नाम से पहचानते हैं. मुझे यकीन है कि मुझे टीवी पर पसंद करने वाले लोग मेरी फ़िल्में भी देखेंगे."

आयुष्मान खुराना

इमेज कॉपीरइट yrf films

एक और रेडियो जॉकी आयुष्मान ख़ुराना टीवी के लोकप्रिय रिएलिटी शो 'रोडीज़' का दूसरा सीज़न जीत कर सुर्खियों में आए.

रेडियो जॉकी आयुष्मान ने 'रोडीज़' जीतने के बाद इस धारावाहिक को होस्ट भी किया. उन्होंने 'इंडियाज़ गॉट टैलेंट' को भी होस्ट किया.

साल 2012 में सुजीत सरकार की सुपरहिट फ़िल्म 'विक्की डोनर' ने आयुष्मान को एंकर से एक्टर बना दिया.

लेकिन इस फ़िल्म के बाद लगातार तीन फ्लॉप फ़िल्मों से आयुष्मान का करियर डांवाडोल हो गया.

साल 2015 में आई 'दम लगाके हईशा' से बॉलीवुड में उन्होनें सफलता का स्वाद दोबारा चखा. वे कहते हैं,"फ्लॉप फ़िल्मों से आप सीखते हैं, क्या नहीं करना है. मैंने यह सीख ली है. ये मेरी सफल फ़िल्म बता रही है."

गाना गाने की क्षमता रखने वाले इस अभिनेता की अगली फ़िल्म 'आगरा का डाबरा' अब रीलीज़ के लिए तैयार है.

रण विजय सिंह

पहला एम टीवी 'रोडीज़' जीतने वाले रण विजय ने उस सीज़न के बाद 'रोडीज़' के सारे सीज़न होस्ट किए.

एक लोकप्रिय एंकर होने के नाते उन्हें कई फ़िल्मों में मौका मिला. इनमें अक्षय कुमार के साथ 'एक्शन रीप्ले', सलमान ख़ान के साथ 'लंदन ड्रीम्स' और बतौर लीड 'डोर' फ़िल्म में काम किया. लेकिन बदकिस्मती से उनकी एक भी फ़िल्म नहीं चली.

धीरे धीरे रण विजय शो होस्ट करने के अपन पुराने काम में लौट गए. वे अब भी 'रोडीज़' होस्ट करते हैं

सोफ़ी चौधरी

इमेज कॉपीरइट saergama

एम टीवी की सबसे सफल वीडियो जॉकी(वीजे) रही सोफ़ी चौधरी को फ़िल्मों में बतौर मुख्य अभिनेत्री कभी काम नहीं मिला.

एक म्यूज़िक वीडियो "एक परदेसी मेरा दिल ले गया" गाना लोकप्रिय हुआ था. लेकिन 'शादी नंबर 1' , 'हे बेबी', 'प्यार के साइड इफ़ेक्ट्स' और 'वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई दोबारा' जैसी फ़िल्मों में छोटे मोटे किरदार ही उन्हें मिले.

33 वर्षीय इस अभिनेत्री के ख़ाते में कोई भी फ़िल्म या टीवी शो नहीं है.

गौरव कपूर

इमेज कॉपीरइट gaurav kapoor

चैनल वी के वीजे गौरव कपूर लोकप्रिय होने से पहले राम गोपाल वर्मा की फ़िल्म 'डरना ज़रुरी है' में काम कर चुके थे. लेकिन आईपीएल में एंकरिंग के बाद गौरव की लोकप्रियता आसमान छूने लगी.

लेकिन कई फ़िल्मों में छोटे मोटे किरदार निभाने वाले गौरव 6 फ़िल्मों के बाद भी एंकर की छवि नहीं तोड़ पाए.

फ़िलहाल गौरव सिर्फ़ आईपीएल ही होस्ट कर रहे हैं, जो साल में 3 महीने टीवी पर रहता है.

पूरब कोहली

इमेज कॉपीरइट everymedia

किसी ज़माने में सुपर हिट टीवी एंकर रहे पूरब कोहली ने अपने करियर की शुरुआत दूरदर्शन पर आने वाले धारावाहिक 'हिप हिप हुर्रे' से की थी.

इसके बाद पूरब ने 'सा रे गा मा पा सिंगिंग सुपरस्टार' और नेशनल जियोग्राफिक चैनल के 'टैरा क्विज़'' शो को होस्ट किया.

पूरब को सबसे बड़ी ब्रेक फ़रहान अख्तर की फ़िल्म रॉक ऑन (2008) में मिली थी.

पूरब को इस फ़िल्म के सीक्वल का इंतज़ार है. वे कहते हैं,"जल एक अच्छी फ़िल्म थी, जिसे दुनियाभर में सराहना मिली. मुझे रॉक ऑन 2 का बेसब्री से इंतज़ार है जो 2016 में रिलीज़ होगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार