'बॉलीवुड में स्टार किड्स का ही दबदबा'

'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर', 'फ़ुकरे' और 'मसान' जैसी फ़िल्मों से लोकप्रिय हुई रिचा चड्डा मानती हैं कि बॉलीवुड में 'स्टार किड्स' का ही चलन है.

बीबीसी से हुई खास बातचीत में रिचा चड्डा ने कहा,"यहां वंश परंपरा तो नहीं है लेकिन स्टार किड्स का चलन और उनका दबदबा बहुत है."

स्टार किड्स का दबदबा

बॉलीवुड में लगभग हर फ़िल्मी परिवार से ताल्लुक रखने वाले बच्चे सिनेमा के फ़ील्ड में आ जाते हैं जिसके चलते बाहरी लोगों के लिए अपनी जगह बनाना मुश्किल हो जाता है.

रिचा बताती हैं,"स्टार किड्स का इंडस्ट्री के लोंगो के साथ काफ़ी करीब का रिश्ता होता है, जो बाहर से आए किसी स्ट्रगलर का नहीं हो सकता."

बाहरी लोगों के लिए हमेशा से ही बॉलीवुड की राह मुश्किल रही है और इसका शिकार वो ख़ुद को भी मानती हैं.

रोमांटिक रोल की आस

इमेज कॉपीरइट Pravin Talan

फ़िल्म 'मैं और चार्ल्स' के ट्रेलर लांच के दौरान फ़िल्मो में रोमांटिक रोल करने की इच्छा जताते हुए रिचा ने कहा,"मैं तो इंतज़ार ही कर रही हूं की मुझे कोई रोमांटिक और ग्लैमरस रोल के लिए पूछे".

बॉलीवुड के रोमांस किंग शाहरुख़ ख़ान के साथ काम करने की इच्छा जताते हुए रिचा कहती हैं,"काश मुझे शाहरुख़ की फ़िल्म 'रईस' या 'फ़ैन' में काम करने का मौका मिला होता!"

वैसे रिचा बॉलीवुड के सभी खानों के साथ काम करना चाहती हैं जिसमें इरफान ख़ान भी शामिल हैं.

शादी पर सवाल क्यों?

शादी और बच्चों के सवाल पर रिचा भड़क जाती हैं.

वो कहती हैं,"आप ये सवाल अभिनेताओं के सामने क्यों नहीं रखते ? और शादी का करियर से क्या लेना देना, शादी के बाद हमारी अभिनय क्षमता कम नहीं हो जाएगी."

फ़िलहाल तो रिचा 30 अक्तूबर को रिलीज़ हो रही फ़िल्म "मैं और चार्ल्स" के प्रमोशन में वयस्त हैं और साफ़ कहती हैं कि मीडिया को अभिनेत्रियों की शादी की चिंता छोड़ देनी चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार