अब 'आप' में नहीं हैं रणवीर

'आम आदमी पार्टी' से नाता रखने वाले अभिनेता रणवीर शौरी अब राजनीति से तौबा कर रहे हैं.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में रणवीर कहा, "देश में व्याप्त भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ कुछ न कर पाने की स्थिति में, मैं खुद को नपुंसक महसूस कर रहा था." इसलिए "आम आदमी पार्टी का समर्थन करने चल पड़ा."

लेकिन अब उन्हें लगता है कि "राजनीति गटर की तरह है, जो जाता है वो गंदा हो जाता है."

राजनीतिक करियर को विराम देने का कारण बताते हुए रणवीर करते हैं, "सत्ता में आने के बाद आम आदमी पार्टी का काम करने का तरीक़ा ही बदल गया, इसलिए मैं राजनीति और पार्टी दोनों से दूर हो गया."

'पैसे मांगता हूं'

बॉलीवुड में एक दशक से अधिक समय बिताने के बाद भी कम फ़िल्मों के प्रस्ताव के जवाब में वे कहते हैं, "दोस्तों ने बताया कि फ़िल्म इंडस्ट्री में मेरी छवि 'भाव खाने वाले' कलाकार के रूप में बन गई है. साथ ही मैं पैसे भी बहुत मांगता हूँ."

मज़ाकिया अंदाज़ में वो कहते हैं, "जबकि दोनों में कोई सच्चाई नहीं. न तो मैं भाव खाता हूँ और ना ही पैसे बहुत लेता हूँ."

इमेज कॉपीरइट Madhu Pal

हाल ही में पत्नी कोंकणा सेन शर्मा से तलाक़ लेने वाले रणवीर किसी को इसके लिए ज़िम्मेदार नहीं मानते हैं.

वो कहते हैं, "यह मेरे और कोंकणा के बीच का मामला है. और जो कुछ कहना था, हमने ट्वीटर पर लिख दिया था."

रणवीर शौरी जल्द ही फ़िल्म 'तितली' में नज़र आने वाले हैं.

कानू बहल के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने 67वें कान्स फ़िल्म फेस्टिवल में काफ़ी वाह वाही बटोरी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार