लहरों पर दौड़ती इशिता मालाविया

इमेज कॉपीरइट ishita malaviya

26 वर्षीय इशिता मालाविया भारत की पहली प्रोफेशनल महिला सर्फर हैं.

पिछले करीब 8 वर्षो से सर्फिंग कर रही इशिता कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले चुकीं हैं.

मुंबई में जन्मी इशिता कर्नाटक राज्य के तटीय इलाके में सर्फिंग का अभ्यास करती हैं.

कर्नाटक के कोडि बेंग्रे गांव में रह रही इशिता ने सर्फिंग से जुड़ी कई बातें बीबीसी से साझा की.

इमेज कॉपीरइट ishita malaviya

भारत में सर्फिंग की लोकप्रियता के बारे में वे कहती हैं, "सर्फिंग काफी खतरनाक खेल हैं जिसे करने के लिए आपको उसकी तकनीक भी सीखनी पड़ती हैं, इस वजह से लोग इसके प्रति कम आकर्षित होते हैं."

इशिता ने सर्फिंग मणिपाल में अपने कॉलेज की पढ़ाई करने के दौरान सीखी.

वे कहती हैं, "हमारे साथ जर्मनी से आया एक छात्र पढ़ता था, जिसकी मदद से मैंने सर्फिंग करना सीखा."

इमेज कॉपीरइट ayush

अमरीका और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में सर्फिंग कर चुकी इशिता कहती हैं कि भारत में ऐसी कई जगह है जहां आपको सर्फिंग के अनुकूल वातावरण मिलेगा.

वे भारत में ज़्यादा सर्फर ना होने की बात पर कहती हैं, "सर्फिंग काफी महंगा खेल है इसलिए भी लोग इसे करना पसंद नहीं करते."

इमेज कॉपीरइट ishitaq malaviya

वे आगे कहती हैं, "एक सर्फ बोर्ड खरीदने के लिए भी करीब 5000 रुपये के निवेश कि ज़रूरत होती है."

इशिता अपने सर्फिंग के शुरुआती दिनों को याद करते हुए कहती हैं, "विदेश में होने वाली प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए मुझे प्रायोजकों की मदद लेने जाना पड़ती थी."

लेकिन जागरुकता की कमी की वजह से इशिता को प्रायोजकों की भी ना सुननी पड़ती थी.

इमेज कॉपीरइट ishita malaviya

भारत में सर्फिंग एसोसिएशन की स्थापना वर्ष 2011 में कुछ सर्फर्स ने मिलकर कर्नाटक में ही की. भारत सरकार द्वारा प्रमाणित यह एसोसिएशन हर वर्ष सर्फिंग की प्रतियोगिताएं आयोजित करवाता हैं.

भारतीय सर्फिंग एसोसिएशन के अधिकारी किरण कुमार बताते हैं, "वर्ष 2001 में भारत में सिर्फ दो या तीन ही सर्फर हुआ करते थे, लेकिन आज हर वर्ष 200 से भी ज़्यादा लोग प्रतियोगिता में भाग लेते हैं."

किरण बताते हैं कि भारत में सर्फिंग के प्रति जागरुकता धीरे-धीरे बढ़ रही है, उनका मानना हैं, "दूसरे देशों के मुकाबले सर्फिंग भारत के लिए काफी नया है, लोग जितना जानेंगे उतना इसकी तरफ आकर्षित होंगे."

इमेज कॉपीरइट ishita malaviya

भारतीय सर्फिंग एसोसिएशन, अंतरराष्ट्रीय सर्फिंग एसोसिएशन के साथ मिलकर इस खेल को ओलंपिक्स में शामिल करने का प्रयास कर रही हैं.

भारत में कई जगह ऐसी हैं जहां आप सर्फिंग सीख सकते है. कर्नाटक के अलावा गोवा और ओड़िसा में भी कई सर्फ़िंग स्कूल उपलब्ध हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार