विचित्र वीणा बजाने वाले बचे बस चार लोग

इमेज कॉपीरइट khushboo

आकार प्रकार में 'वीणा' परिवार से आने वाली 'विचित्र वीणा' का सबसे क़रीबी रिश्तेदार आप सितार को मान सकते हैं.

कर्नाटक संगीत में गोट्यवाद्यम या फिर चित्रा बीन से निकला यह यंत्र देखने के साथ साथ बजाने के तरीके के लिहाज़ से भी विचित्र माना जाता है.

हाथीदांत से बनी इसकी पट्टी पर कसी तारों को उंगलियों की सहायता से नहीं, बल्कि एक लकड़ी के गोलाकार यंत्र की सहायता से बजाया जाता है.

लेकिन यह विलक्षण यंत्र अब विलुप्त होने के कगार पर है क्योंकि इस यंत्र को बजाने वाले लोग अब काफ़ी कम रह गए हैं.

इमेज कॉपीरइट khushboo dua

इसके भारी होने के कारण भी इस यंत्र को इधर उधर लाने ले जाने में कलाकार दिक्कत महसूस करते हैं और इसी के चलते इसका निर्माण भी अब नहीं किया जाता.

ऑल इंडिया रेडियो की कलाकर ग्रिड के अनुसार, आज संपूर्ण भारत में सिर्फ़ चार लोग ही इसे बजा पाने में सक्षम हैं.

इन चार लोगों में से एक हैं देहरादून में रहने वाले अजीत सिंह.

83 वर्षीय अजीत विचित्र वीणा बजाने में पारंगत है और वो कहते हैं, "हमारी एक वाद्य यंत्रों की दुकान है जो मेरे पुरखों के समय से है. विभाजन से पहले पाकिस्तान में मेरे पिता के एक मित्र इसे बजाया करते थे और वहीं से विचित्र वीणा मेरी ज़िंदगी में दाखिल हो गई."

इमेज कॉपीरइट khushboo dua

वो कहते हैं, "मुझे ओपी नैय्यर की ओर से फ़िल्मों में इसे बजाने का ऑफ़र मिला था लेकिन उस समय मैं इसे स्वीकार नहीं कर सका."

अजीत ऑल इंडिया रेडियो के साथ पहले दर्जे के कलाकार रहे हैं और मशहूर बैंड 'बीटल्स' के सदस्य जॉर्ज हैरिसन के लिए उन्होंने 'सुर बहार' नामक सितार भी बनाया था.

अजीत मानते हैं कि इस वाद्य यंत्र को संभालना करना ज़रा मुश्किल काम है क्योंकि इसकी ट्यूनिंग बाकी वाद्य यंत्रों से काफ़ी अलग है.

इमेज कॉपीरइट khushboo dua

अजीत सिंह मानते हैं कि अगर उन्होंने विचित्रा वीणा को लोकप्रिय करने के लिए अपना शहर छोड़ा होता तो शायद उनकी और इस यंत्र की जगह म्यूज़िक इंडस्ट्री में बहुत ऊपर होती.

अजीत को अफ़सोस है और वो कहते हैं कि आजकल कोई भी विचित्र वीणा नहीं सीखना चाहता क्योंकि लोगों को ऐसा यंत्र सीखना पसंद है जिसमें तीव्रता हो, जल्दी सीखा जा सके.

इमेज कॉपीरइट khushboo

उनकी राय है कि विचित्र वीणा में काफ़ी मेहनत, समय, निष्ठा और धैर्य चाहिए जो आजकल मुश्किल से ही मिलता है.

विचित्र वीणा को बजाने के लिए अजीत को 80 के दशक में बीबीसी की ओर से लंदन और बर्मिंघम भी बुलाया गया और उन्होनें 'बिग बिज़नेस' के लेखक रस्किन बॉन्ड की कहानी पर बनी ऑस्ट्रेलियन फ़िल्म के लिए भी इस वीणा को बजाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार