क्या आप 5 हज़ार की बिंदी ख़रीदेंगी?

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

बढ़ते ई-कॉर्मस के दौर में अब बिंदी भी ऑनलाइन ख़रीदी जा सकती है.

अरुणा भट्ट ने अपनी वेबसाइट 'बुकमाईबिंदी डॉटकॉम' के ज़रिए बिंदी का ऑनलाइन बाज़ार तैयार किया है जहां नए डिज़ाइन में हज़ारों तरह की बिंदियां मौजूद हैं.

अरुणा बताती हैं कि उन्होंने 14 साल की उम्र से ही बिंदी के नए-नए डिज़ाइन बनाने शुरू कर दिए थे.

वो कहती हैं, "यह पारपंरिक चिपकने वाली बिंदी नहीं, बल्कि एक तरह का आर्टवर्क है जो हर बार नया होता है."

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

अरुणा कहती हैं, "तीन महीने पहले शुरू हुई हमारी वेबसाइट के शुरूआती 10 दिनों में मुझे लोगों से ताने और मज़ाक सुनने को मिले.”

“सोशल मीडिया पर मुझे लोगों ने कहा कि अगर बिंदी जैसे बिज़नेस के लिए फंडिंग मिलेगी तो फिर बिज़नेस का तो अंत है."

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

लेकिन अरुणा ने इस प्रतिक्रिया को गंभीरता से नहीं लिया और एक करोड़ की फ़ंडिंग के साथ शुरू किए गए इस स्टार्ट अप को वो इंटरनेट से निकाल कर दुकानों तक लाना चाहती हैं.

वो कहती हैं, "हमारे पास इस वक़्त क़रीबन एक लाख़ विभिन्न डिज़ाइनों वाली बिंदियां मौजूद हैं और मैंने अपने ऊपर या अपने किसी भी ख़रीददार के लिए डिज़ाइन की गई बिंदी में पिछले 15 सालों में एक भी डिज़ाइन दोहराया नहीं है."

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

अरूणा भट्ट का नाम 2008 और 2009 में लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में विभिन्न प्रकारों की सबसे ज़्यादा बिंदी बनाने के लिए दर्ज हुआ.

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

फ़िलहाल इस वेबसाइट पर 150 रुपए से लेकर 5000 या उससे भी ज़्यादा क़ीमत की बिंदियां हैं.

वेबसाइट में 15 से 20 लोग काम कर रहे है जिनमे से ज़्यादातर लोग बिंदी बनाने वाले मर्द है.

इमेज कॉपीरइट aruna bhatt

वैसे बिंदियों की कीमत भी अरुणा के लिए चुनौती हो सकती हैं क्योंकि बाज़ार में बिंदियों की सामान्य कीमत 20 रुपए पत्ते से लेकर 200 रुपए पत्ते तक होती हैं लेकिन 'बुकमाईबिंदी' पर आपको एक जोड़ी बिंदी न्यूनतम 150 रुपए में ही मिलेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार