'सोचा था गिटार बजाने वाला कूल वकील बनूंगा'

इमेज कॉपीरइट khushboo dua

साल 2012 में आई फ़िल्म 'विक्की डोनर' से बॉलीवुड में क़दम रखने वाले संगीतकार रोचक कोहली संगीत की दुनिया का उभरता हुआ नाम हैं.

हाल ही में आई फ़िल्म 'वज़ीर' में उनके रचे गाने 'अतरंगी यारी' को ख़ासा पसंद किया गया.

रोचक कहते हैं कि वो वकीलों के परिवार से आते हैं और इसीलिए उन पर भी वकील बनने का दबाव था.

वो बताते हैं, ''हमारे घर में लॉ की पढ़ाई अनिवार्य थी. घरवालों ने शर्त रखी थी कि पहले लॉ में अच्छे नंबर लाओ, फिर चाहे जो करना.''

इमेज कॉपीरइट amitabh bachhan twitter page
Image caption 'अतरंगी यारी' अमिताभ बच्चन और फरहान अख़्तर ने गाया है

रोचक बताते हैं, ''मुझे लगता था कि मैं 'कूल' लॉयर बनूंगा, जो गिटार भी बजाता होगा.''

ख़ैर, उन्होंने क़ानून की पढ़ाई के साथ रेडियो स्टेशन में पार्ट टाइम काम करना शुरू किया. रेडियो से शुरू हुआ सफ़र उन्हें मुंबई तक ले आया.

रोचक अपनी और अभिनेता आयुष्मान खुराना की दोस्ती के बारे में बताते हैं, ''हमारी दोस्ती सातवीं-आठवीं क्लास में हुई थी. मैं एक दिन पेंसिल बॉक्स बजाकर गाना गा रहा था, तभी आयुष्मान ने मेरा साथ देना शुरू कर दिया.''

वो बताते हैं, ''तब मुझे लगा कि पूरी क्लास में सिर्फ़ यही है, जो थोड़ा ताल में गा लेता है.''

इमेज कॉपीरइट eros
Image caption आयुष्मान और रोचक स्कूल के दिनों से दोस्त हैं

इसके बाद रोचक और आयुष्मान ने एक साथ रेडियो स्टेशन में भी काम किया और बाद में पॉप एंड रॉक बैंड भी बनाया. वैसे रोचक थिएटर में भी काफ़ी सक्रिय रहे हैं. उन्हें कई पुरस्कार भी मिले हैं.

ऐसे में, क्या वो भी अपने दोस्त आयुष्मान की तरह फ़िल्मों में अभिनय करना चाहते हैं? इसके जवाब में वो कहते हैं, ''नहीं मैं फ़िल्मों वाला एक्टर नहीं हूं.''

आने वाले दिनों में रोचक 'बैंकचोर', 'मॉनसून शूटआउट' और 'शिवाय' जैसी फ़िल्मों में संगीत देंगे और इनमे से कई में वो गाएंगे भी.

इमेज कॉपीरइट Khushboo Dua

कोहली बताते हैं कि जब उन्होंने अपना पहला गाना 'पानी दा रंग' लिखा था, तो उसके इस कदर मशहूर होने की उम्मीद नहीं थी.

'पानी दा रंग' बनने की कहानी वो कुछ इस तरह बताते हैं, ''ये गाना मैंने ग्रेजुएशन से पहले बनाया था, उस समय मैं जयपुर में अपनी नानी के पास रहने गया था, तभी गिटार बजाना भी सीख रहा था और उसी दौरान ये गाना बन गया.''

वो कहते हैं कि चंडीगढ़ वापस आकर मैंने वो गाना आयुष्मान खुराना को सुनाया. उसने इसमें कुछ और पक्तियां जोड़ीं.

रोचक बताते हैं, ''तब मुझे और आयुष्मान दोनों को ये नहीं पता था कि यह गाना किसी फ़िल्म का हिस्सा बनेगा और उसे इतना पसंद किया जाएगा कि 6 पुरस्कार मिलेंगे.''

इमेज कॉपीरइट khushboo dua

'अतरंगी यारी' के बारे में रोचक बताते हैं कि यह गाना एक विज्ञापन के लिए बनाया गया था, लेकिन विधु विनोद चोपड़ा को यह इतना पसंद आया कि थोड़े बदलाव के बाद इसे फ़िल्म 'वज़ीर' में इस्तेमाल कर लिया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार