अब रंग-बिरंगे दिखते हैं मुंबई के कुछ स्टेशन

इमेज कॉपीरइट MAD GROUP

महानगरी मुंबई में तक़रीबन 100 लोकल रेलवे स्टेशन हैं, जहां रोज़ लाखों की संख्या में लोग सफर करते हैं. इन स्टेशनों की सफाई और मरम्मत पर तो हमेशा ही ध्यान दिया गया है, लेकिन अब एक खूबसूरत बदलाव ने दस्तक दी है.

इमेज कॉपीरइट Supriya Sogle

इस बदलाव के कारण मुंबई के लोकल ट्रेन स्टेशनों पर बेरंग दीवारों पर सुंदर कलाकृतियां नज़र आने लगी हैं. अभी तक बोरीवली स्टेशन, खार रोड स्टेशन, माटुंगा रोड स्टेशन और किंग्स सर्किल स्टेशनों पर सुंदर कलाकृतियां उकेरी जा चुकी हैं.

इमेज कॉपीरइट Supriya sogle

स्टेशनों को सजाने का बीड़ा गैर सरकारी संस्था एमएडी (मेकिंग अ डिफरेंस) ने उठाया है. मुंबई में एमएडी की इस पहल का नेतृत्व करने वाले कुणाल शाह कहते हैं, ''लोगों में जागरूकता लाने के लिए लोकल रेलवे स्टेशन से बढ़िया ज़रिया दूसरा नहीं हो सकता. इसलिए हमने इन स्टेशन को गोद लिया और स्वच्छता के साथ सुंदरता का सहारा लेकर लोगों का ध्यान आकर्षित करने की कोशिश शुरू की."

इमेज कॉपीरइट Supriya sogle

इन सभी स्टेशनों पर लगभग 500 छात्र 10 दिन के लिए वॉलिंटियर बने और इस अभियान में शामिल हो कर स्टेशनों को सुंदर बनाने का काम किया.

इमेज कॉपीरइट supriya sogle

बोरीवली की सुचित्रा तुलस्कर कहती हैं, "पहले के मुकाबले अब बोरीवली स्टेशन खूबसूरत हो गया है, टिकट काउंटर पर खड़े होकर दीवार को देखना अब अच्छा लगता है."

इमेज कॉपीरइट Supriya sogle

वहीं खार रोड की किशोरी सोनवणे कहती हैं, ''सीढ़ियां सुंदर हो गई हैं और स्टेशन से सटी दीवार भी खूबसूरत हो गई है. बस लोग थोड़ी समझदारी दिखाएं और पान खाकर दीवारों को गंदा ना करे."

इसके अलावा हार्बर लाइन के गुरू तेग बहादुर रेलवे स्टेशन पर फैली गंदगी से परेशान होकर गुरू नानक कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स साइंस एंड कॉमर्स के छात्रों ने कॉलेज की तरफ से पहल कर स्टेशन को साफ़ और सुंदर बनाने की पहल की.

इमेज कॉपीरइट supriya sogale

कॉलेज के छात्र यश पंड्या कहते हैं, ''कॉलेज स्टेशन के नज़दीक होने के कारण कई छात्रों को स्टेशन में फैली गंदगी से शिकायत थी. हम छात्रों ने मिलकर इसे साफ़ और सुंदर बनाने का बीड़ा उठाया. तक़रीबन 150 छात्रों ने इस काम में भागीदारी की.''

इमेज कॉपीरइट Supriya sogle

फ़िलहाल मुंबई के कई कॉलेज जैसे मीठीबाई कॉलेज, जय हिंद कॉलेज ने मुंबई के कई स्टेशन को गोद लिया है, और जल्द ही स्टेशनों की सुंदरता का काम शुरू करेंगे.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार