मीना कुमारी से करीना तक के साथ किया काम..

इमेज कॉपीरइट Asha rani singh

बॉलीवुड में पांच दशकों से बतौर जूनियर आर्टिस्ट काम कर रहीं आशा रानी का कहना है कि आजकल की अभिनेत्रियों का दिल पहले की अभिनेत्रियों के मुक़ाबले छोटा है.

हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में मीना कुमारी से लेकर करीना कपूर और सोनाक्षी सिन्हा तक के साथ काम करने वाली आशा रानी सिंह उन चंद जूनियर आर्टिस्ट्स में से हैं, जिन्हें बतौर जूनियर आर्टिस्ट ही पहचान मिली है.

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

किसी फ़िल्मी पार्टी या बाज़ार में भीड़ के रूप में नज़र आने वाले कलाकारों को जूनियर आर्टिस्ट या एक्स्ट्रा कहा जाता है.

मायानगरी मुंबई में लाखों की तादाद में जूनियर आर्टिस्ट हैं. इन्हीं में से एक हैं 71 वर्षीया आशा रानी सिंह.

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

बीबीसी से अपने सफ़र के बारे में आशा कहती हैं, "मुझे इस पेशे में आए हुए पूरे 50 साल हो गए हैं, लेकिन पहला मौक़ा मुझे देव साहब ने फ़िल्म 'गाइड' में दिया था. तब मैं एक डांस सीक्वेंस में वहीदा रहमान की बॉडी डबल बनी थी."

वो कहती हैं, "फ़िल्म 'गाइड' का गाना- 'आज फिर जीने की तमन्ना है' के अंग्रेज़ी वर्ज़न के लिए डांस के कुछ स्टेप्स किए थे और दूर वाले सीन मैंने ही किए थे."

आशा ने कहा कि कई बार तो वहीदा जी भी कहा करती थीं, "मैं शूटिंग पर नहीं आ पाऊंगी, आशा से करवा लो."

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

बीते ज़माने को वो कभी न भूलने वाला बताती हैं.

वो कहती हैं, "पृथ्वी राज कपूर, देव आनंद साहब, राजेश खन्ना, राजेंद्र कुमार, सुनील दत्त, दिलीप कुमार ये सभी जूनियर आर्टिस्ट को सम्मान की नज़र देखते थे और उनके साथ बैठ कर खाते, हंसते-रोते थे."

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

आजकल के कलाकारों के बारे में वो कहती हैं, "आजकल के कलाकारों में वो प्रेम और इज़्ज़त कहां है. माहौल बहुत बदल गया है."

अपने करियर के सफ़र को समझाते हुए वो कहती हैं, "पहला दौर वैजयन्ती माला, मीना कुमारी का, दूसरा दौर आशा पारेख और सायरा बानो का, तीसरा दौर हेमा मालिनी, रेखा का और चौथा दौर माधुरी दीक्षित और फिर करीना कपूर का रहा."

ग़ौरतलब है कि आशा रानी ने साल 2000 में आई फ़िल्म 'रिफ्यूजी' में करीना की दादी की भूमिका निभाई थी.

इसके अलावा वो अभिनेत्री साधना के लिए 'मेरा साया', 'गीता मेरा नाम', 'एक फूल दो माली' में बॉडी डबल बन कर डांस और अभिनय कर चुकी हैं.

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

आशा ने बताया कि फ़िल्मों में मेरे काम और डांस को देखते हुए मुझे भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के सामने लावणी नृत्य करने का मौक़ा मिला.

आशा जाने-माने स्टंट आर्टिस्ट सुरजीत की पत्नी हैं. सुरजीत ने तकरीबन 350 फ़िल्मों में बतौर स्टंटमैन काम किया था.

अपने काम से वो संतुष्टि जताते हुए कहती हैं कि जितना नाम और शोहरत इस पेशे में है, किसी और में नहीं है. रही बात अच्छे बुरे लोगों की, तो वो दूसरे पेशे में भी होंगे ही.

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

अपने करियर में कई अभिनेत्रियों के साथ काम कर चुकी आशा की पसंदीदा एक्ट्रेस नर्गिस और मीना कुमारी हैं.

उन दोनों के साथ अपने रिश्ते के बारे में वो कहती हैं, "उनके साथ मेरा रिश्ता नौकर मालिक का नहीं, बल्कि दोस्त का था."

एक क़िस्सा साझा करते हुए वो कहती हैं, "फ़िल्म 'रात और दिन' के एक सीन में मुझे नर्गिस को खूब खरी खोटी सुनानी थी, लेकिन हो नहीं पा रहा था. तब नर्गिस ने मुझे बहुत समझाया, तब जाकर वो सीन हो पाया."

इमेज कॉपीरइट asha rani sing

वो मीना कुमारी को खुशमिज़ाज महिला बताते हुए कहती हैं, "वो और मैं 'नूरजहां' के लिए मैसूर में शूटिंग कर रहे थे. धूप से सभी परेशान थे. यह सब देख कर मीना बोलीं- तुम बार बार वक़्त देख रही हो, लेकिन सूरज को कैसे कहोगी, जल्दी निकल, वो तो अपने हिसाब से चलेगा."

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

नई अभिनेत्रियों में रेखा, ऐश्वर्या राय, माधुरी दीक्षित, करिश्मा कपूर, करीना कपूर तक के साथ आशा ने काम किया है.

वैजयंती माला के साथ पहली बार आशा ने दिलीप कुमार की फ़िल्म 'लीडर' के एक गाने में काम किया, उसके बाद वैजयंती माला के साथ सिलसिला थमा नहीं.

इमेज कॉपीरइट asha rani singh

अब आशा ने फ़िल्मों से दूरी बना ली हैं और टेलीविज़न में काम करने लगी हैं, लेकिन कहती हैं कि मरते दम तक इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से जुड़ी रहेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार