एडल्ट शो में होंगे 'बाबू जी' आलोकनाथ

  • 6 अप्रैल 2016
इमेज कॉपीरइट crispy bollywood

'संस्कारी' बाबू जी के नाम से मशहूर अभिनेता आलोकनाथ का कहना है कि उन्हें टाइपकास्ट होने का मलाल है और यह उनकी बदक़िस्मती है.

बीते कई दशकों से 'बाबू जी' का किरदार निभाते आए आलोकनाथ अब एक एडल्ट वेब चैट शो में नज़र आने वाले हैं.

इस चैट शो के हिस्सा होने पर अलोकनाथ कहते हैं, ''किरदार तो अभी भी 'बाबू जी' का ही है, बस थोड़ा शरारती हो गया है. एक ही तरह का किरदार करते-करते बोर हो गया था और कुछ नया मिला तो 'हां' कर दिया.''

इमेज कॉपीरइट crispy bollywood

वो आगे कहते हैं कि यह एक वेब चैट शो होगा, जो तक़रीबन दस मिनट का होगा और इसमें कई एडल्ट बातें भी होंगी.

अपनी 'संस्कारी' छवि के बारे में कहते हैं कि मुझे इससे फ़र्क़ नहीं पड़ता है कि लोग मेरे बारे में क्या सोचते हैं. मैं एक अभिनेता हूं और काम मिलेगा तो ज़रूर करूंगा.

हालांकि, बीते दो सालों से अपनी छवि को लेकर आलोकनाथ ने कई प्रयोग किए हैं. 59 वर्षीय अभिनेता को दूरदर्शन के धारावाहिक 'बुनियाद' से पहचान मिली.

इमेज कॉपीरइट crispy bollywood

'बुनियाद' में इन्होंने 'हवेली राम' की भूमिका निभाई थी. इसमें युवा से लेकर बुढ़ापे तक का किरदार निभाया था.

इसके बाद आई कई फ़िल्मों में 'बाबू जी' के साथ 'भ्रष्ट नेता', 'बेईमान आदमी' यानी खलनायक के किरदार भी निभाए, लेकिन उनके निभाए 'बाबू जी' के किरदार ही मशहूर हुए.

इस बारे में आलोकनाथ कहते हैं, ''टाइपकास्ट होने का मलाल है. कोई भी अभिनेता एक ही किरदार में बंधने पर खुश नहीं होता है.''

इमेज कॉपीरइट crispy bollywood

वो आगे कहते हैं कि मैं भी मुंबई हीरो बनने ही आया था. दिल्ली से चलते वक़्त यह नहीं सोचा था कि मैं 50 साल के बुज़ुर्ग की भूमिका निभाऊंगा.

लेकिन जब काम मिलता है और लोग पसंद करते हैं, तो आप को बिना अपनी छवि के बारे में सोचे काम करते जाना होता है.

इसके अलावा आपको अपनी जीविका भी चलानी होती है. आप को जो काम मिल रहा है, उसे ना कर दोगे, तो घर कैसे चलेगा.

इमेज कॉपीरइट aloknath

आलोकनाथ कहते हैं, ''मैं प्रशिक्षित अभिनेता हूं और कोई भी किरदार निभाने की क्षमता है. छोटी उम्र में बड़े उम्र की भूमिका निभा लेना कोई मुश्किल काम नहीं है. ''

30 दिसंबर 2013 में अचानक ही वो सोशल मीडिया पर ट्रेंड करने लगे थे. इसके बाद अलोक नाथ ने छवि को लेकर कई तरह के प्रयोग किए. कपिल शर्मा के कॉमेडी शो में भी वो नज़र आए.

इस बारे में पूछने पर कहा कि लोग ज़बरदस्ती तूफ़ान बना रहे हैं. लोगों का काम तो कहना है और वो हर बात पर कुछ न कुछ कहेंगे.

आगे कहते हैं कि यह तो मेरी करियर की आख़िरी पारी है और बिना ज़्यादा सोच विचार के मैं भूमिकाओं को करना चाहता हूं. जब तक सक्षम हूं काम करता रहूंगा, घर बैठने से अच्छा है, कुछ काम किया जाए.

इमेज कॉपीरइट crispy bollywood

वहीं हाल ही में आई सूरज बड़जात्या की फ़िल्म 'प्रेम रतन धन पायो' में आलोकनाथ नहीं दिखे. इससे पहले सूरज बड़जात्या की हर फ़िल्म में आलोकनाथ रहते ही थे, तो इस बार ना होने की कोई ख़ास वजह.

इसका जवाब देते हुए कहते हैं कि मेरे लिए इस फ़िल्म में कोई भूमिका ही नहीं थी. इसलिए मैं उस फ़िल्म में नहीं था. लेकिन मज़ेदार बात तो यह है कि अभी तक उन्होंने यह फ़िल्म देखी ही नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार