'शाहरूख़ ये रोल मुझसे अच्छा न कर सकते थे'

इमेज कॉपीरइट H1 media

कुछ महीने पहले हरियाणा में आरक्षण को लेकर हुए हिंसक जाट आंदोलन से हताश अभिनेता रणदीप हुड्डा कहते हैं कि आरक्षण नहीं होना चाहिए.

रणदीप हुड्डा हरियाणा के हैं और दंगों से काफ़ी आहत हुए. उन्होंने ट्विटर पर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की थी.

बीबीसी से ख़ास बातचीत में उन्होंने कहा कि प्रदेश में इतनी तरक्क़ी के बाद भी ऐसा हुआ, इसका अफ़सोस है.

इमेज कॉपीरइट randeep hooda twitter

इसके पीछे वह राजनीतिक इतिहास को ज़िम्मेदार मानते हैं लेकिन उस पर टिप्पणी नहीं करना चाहते.

आरक्षण के सवाल पर वह कहते हैं, ''आरक्षण तो होना ही नहीं चाहिए, लेकिन हमारी राजनीति जातिवाद पर आधारित है. हर जाति का लीडर 'ब्राउनी पॉइंट' के लिए आरक्षण की बात करता है.''

वे कहते हैं, ''मेरे ख़्याल से आरक्षण आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखकर होना चाहिए. जो ग़रीब हैं उन्हें मदद मिलनी चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट H1 media

'मानसून वेडिंग', 'किक', 'जिस्म 2' और 'मैं और चार्ल्स' जैसी फ़िल्मों से दर्शकों के दिल में जगह बनाने वाले रणदीप हुड्डा कहते हैं कि उन्हें बनावटी विनम्रता पसंद नहीं.

रणदीप ने कहा कि फ़िल्म इंडस्ट्री में वह बनावटी तौर पर किसी के पैर नहीं पड़े. वे कहते हैं कि ये बनावटी चीज़ें फ़िल्मी परिवार से आए अभिनेताओं को बखूबी आती हैं.

इमेज कॉपीरइट spice

शाहरुख़ खान ने इच्छा जताई थी कि वह बड़े पर्दे पर चार्ल्स शोभराज का किरदार निभाना चाहते हैं, लेकिन यह मौक़ा रणदीप हुड्डा को मिला.

इस पर रणदीप कहते हैं, "मुझे माफ़ करना शाहरुख़, मैंने किरदार निभा दिया. पर मुझसे अच्छा निभा नहीं पाओगे."

रणदीप हुड्डा फ़िल्म 'सरबजीत' की वजह से चर्चा में थे. हालांकि 'सरबजीत' से पहले रणदीप की फ़िल्म 'लाल रंग' रिलीज़ होने वाली है. इसमें वे हरियाणवी जाट का किरदार निभा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट H1 media

इस फ़िल्म में वह ख़ून की तस्करी करते दिखेंगे. इस फ़िल्म के लिए सलमान ख़ान एक गाना भी गाने वाले थे, पर व्यस्तताओं के चलते नहीं गा पाए.

22 अप्रैल को रिलीज़ हो रही इस फ़िल्म का निर्देशन सईद अहमद अफ़ज़ल ने किया है.

फ़िल्म में अक्षय ओबरॉय और रजनीश दुग्गल भी अहम भूमिका में दिखेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार