इनके जूते की नोक पर नाचता है बॉलीवुड

  • 4 मई 2016
जमील शाह, काइली मिनॉग के साथ इमेज कॉपीरइट Jameel Shah

बिहार के दरभंगा ज़िले के रहने वाले सातवीं पास जमील शाह का बस एक ही सपना था मुंबई में रहने वाले बड़े-बड़े फ़िल्मी सितारों को एक नज़र देखने का, उनसे मिलने का.

उनके इसी जूनून ने इन्हें डांसिंग शूज का मास्टर बना दिया.

अब तो ये आलम यह है कि कटरीना कैफ़, प्रियंका चोपड़ा से लेकर आमिर ख़ान, सलमान ख़ान, ऋतिक रोशन जैसे कई बड़े कलाकार इनके बनाए जूतों के कायल हैं.

जमील शाह बिहार से दिल्ली, बेंगलुरू और फिर सपनों के शहर मुंबई पहुंचे. वे बैकग्राउंड डांसर बनकर बड़े-बड़े कलाकारों के साथ डांस करना चाहते थे लेकिन यह आसान नहीं था.

उनके पास इतने भी पैसे नहीं थे कि वह किसी डांसिंग स्कूल में भर्ती हो सकें. इसलिए उन्हें कई साल तक चौकीदारी करनी पड़ी.

उनके डांस की क़ाबलियत को सबसे पहले देखा जाने-माने डांसिंग गुरु संदीप सोपारकर ने.

जमील शाह की प्रतिभा को देखते हुए संदीप ने उनसे फीस के तौर पर एक रुपया भी नहीं लिया. लेकिन डांस के जूते बेहद महंगे होते हैं. इनकी शुरुआत ही 10 हज़ार से होती है और इनकी कीमत 2 लाख तक जाती है.

इमेज कॉपीरइट Jameel Shah

फिर भारत में इनका मिलना मुश्किल होता है इसलिए इन्हें कई बड़े डांस गुरु इंग्लैंड से एक साथ ऑर्डर देकर मंगवाते हैं.

अब जमील के लिए तो यह संभव नहीं था इसलिए उन्होंने अपने साथ काम करने वाले डांसरों के जूतों को देखकर वैसे ही जूते बनाए और गुरु दक्षिणा के तौर पर उन्हें संदीप सोपारकर को भेंट किया.

जूते सबको बेहद पसंद आए और 2007 में वहां से शुरू हुआ डांसिंग जूते बनाने का सिलसिला.

30 साल के जमील शाह का ये सफर धारावी से शुरू हुआ था और ऐसा नहीं कि इसमें मुश्किलें नहीं आईं.

वह कहते हैं, "मैंने बेहद गरीबी देखी, मुझे अपने गांव वालों और पड़ोसियों के ताने सुनने पड़े. लोग मुझे हीरोइनों के जूते साफ़ करने वाले और मुजरा करने वाला कहते थे. लेकिन मेरी कामयाबी ने सबको मुंह बंद कर दिया आज वही लोग मेरी तारीफ करते हैं."

जमील कहते हैं, "भारत में ज़्यादातर लोग समझते हैं कि आम जूते और डांस में इस्तेमाल किए जाने वाले जूते में कोई फर्क नहीं होता जबकि डांस में इस्तेमाल किए जाने वाले जूते दूसरे जूतों के मुकाबले बेहद अलग होते हैं."

इमेज कॉपीरइट Madhu Pal

"इन जूतों को बनाते वक़्त उनके आरामदेह होने, उनके आकार, उनकी कोमलता और वज़न का काफ़ी ध्यान रखना पड़ता है. फिर हर डांस स्टाइल के लिए अलग-अलग जूतों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे सालसा, जैज़, टैप, बेली, हिपहॉप, लैटिन, साम्बा, जाम्बा, तुम्बा, मॉडर्न, टैंगो और फ्लेमेंको डांस. इन सभी के जूतों में ज़मीन आसमान का फर्क है."

धूम 3 में अभिनेता आमिर खान ने जो टैप डांस किया है उसके जूते अलग होते हैं. वो जूते थोड़े भारी होते हैं उन जूतों के नीचे एल्युमीनियम की परत लगाई जाती है जिससे डांस करते वक़्त इन जूतों से थपथपाहट की ज़ोरदार आवाज़ आ सके.

इसी तरह फ्लेमेंको डांस के लिए भी जूते के एड़ी और पंजो को बहुत सख्त बनाया जाता हैं लेकिन फ़र्क बस इतना होता है कि उनमें एल्युमीनियम के बजाए कीलें ठोकी जाती हैं, जिससे उन जूतों से आवाज़ थोड़ी धीमी आए.

सालसा डांस वाले जूते बेहद कोमल होते हैं क्यूंकि सालसा डांस करते वक़्त पैरों के पंजे पर ज़्यादा ज़ोर दिया जाता है इसलिए जूतों का पंजा थोड़ा चौड़ा होता हैं और एड़ी की नोक पतली और लंबी होती.

कुछ जूते तो ऐसे भी होते हैं जिनका वजन और मोज़ों का वज़न और लचीलापन एक सामान होना चाहिए. जैज़ डांस के जूते तो इतने हलके होते हैं कि उन्हें आप जेब में भी रख सकते हैं. वह मोज़े जितने हलके होते हैं उन्हें जैसे चाहे मोड़ सकते हैं, निचोड़ सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट Jameel Shah

लैटिन बॉल डांस के लिए जो जूते होते हैं वह क्यूबन हील यानी घनाकार वाली हील होते हैं. उन्हें पहनकर एकदम सीधे खड़ा होना होता है. इन्हें लड़के और लड़की दोनों ही पहन सकते हैं."

जमील कहते हैं, "बॉलीवुड के फ़िल्मी सितारों में सबसे पहले मैंने डिनो मोरया के लिए जूते बनाए थे. फिर प्रियंका चोपड़ा के लिए फ़िल्म सात खून माफ़ के लिए टैंगो डांस के जूते बनाए. धूम 3 में आमिर खान के लिए टैप डांसिंग शूज़ बनाए. ज़िंदगी न मिलेगी दोबारा में सेनोरिटा गाने के लिए ऋतिक के लिए सालसा जूते बनाए."

"इनके अलावा आलिया भट्ट, काजोल, अजय देवगन, सलमान ख़ान, रणबीर कपूर, कटरीना कैफ, श्रीदेवी जैसे कई सितारों के लिए एक दो जोड़ी नहीं बल्कि 10 जोड़ियां तक बनाई हैं. पहले ये सितारे विदेश से जूते मंगवाते थे और इसके लिए लाखों रुपये खर्च किया करते थे. धूम 3 में कटरीना के लिए लंदन से ढाई लाख के बूट मंगवाए जा रहे थे लेकिन कटरीना ने कहा तो मैंने उन्हें 15 हज़ार में बना कर दे दिए."

"आजकल भारत और विदेशों में बहुत सारे अवार्ड्स जिनमें सितारों को डांस भी करना पड़ता है. ऐसे में वह मुझसे हल्के जूते बनाने के लिए कहते हैं, जिन्हें पहन कर वह आराम से डांस कर सके. हाल ही में मैंने ऋतिक रोशन के लिए रोमानी चप्पल बनाई थी जिसे वह फ़िल्म मोहनजोदड़ो में इस्तेमाल कर रहे हैं. ऋतिक को ये चप्पल इतनी पसंद आए कि उन्होंने मुझे 25 जोड़ी चप्पल बनाने को कहा."

इमेज कॉपीरइट Jameel Shah

बॉलीवुड के अलावा जमील शाह ये जूते उन लोगों के लिए भी बनाते हैं जिनके पास महंगे जूते खरीदने के पैसे न हों. इनके बनाए जूतों की कीमत 2 हज़ार से लेकर 25 हज़ार तक है.

और अब बॉलीवुड और टीवी रियलिटी शो के लिए डांसिंग जूते विदेश से न मंगवाकर जमील शाह से बनवाए जाते हैं और अब तो विदेशों से भी आए लोग भी जमील से ही जूते खरीदते हैं. जमील का सपना हैं कि वह बराक ओबामा को टैंगो डांस के जूते दें क्योंकि उन्होंने हाल ही में उन्हें बेहद अच्छा टैंगो डांस करते देखा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार