लीसा कमर्शियल फ़िल्मों से दूर रहना चाहतीं

नब्बे के दशक की मशहूर मॉडल और अभिनेत्री लीसा रे कैंसर फ़िल्म 'वीरप्पन' से बॉलीवुड में दूसरी पारी शुरू करने जा रही हैं.

वो पिछले दिनों कैंसर से पीड़ित रही हैं जिसने उनके फ़िल्मी करियर पर भी असर डाला था.

साल 2001 में विक्रम भट्ट की फ़िल्म 'कसूर' से बॉलीवुड में क़दम रखने वाली लीसा ने दीपा मेहता की फ़िल्म 'वॉटर' में भी काम किया है.

उन्होंने हॉलीवुड में भी काम किया है. साल 2009 में लीसा को पता चला कि उन्हें कैंसर है.

इमेज कॉपीरइट Ibrahim PR

साल 2010 में लीसा ने स्टेम सेल ट्रांसप्लांट करवाया और कैंसर मुक्त होने की घोषणा कर दी. इसके बाद लीसा ख़ुद को 2.0 वर्ज़न कहती हैं.

बीबीसी से ख़ास मुलाक़ात में लीसा ने कैंसर के बाद के अनुभव साझा किए.

लीसा ने कहा, "बहुत जल्दी समझ में आ गया की ज़िन्दगी में क्या ज़रूरी है और क्या नहीं.''

वो आगे कहती हैं, ''मैं एेसी बीमारी के साथ जी रही हूं, जो लाइलाज है. लेकिन जो भी इस बीमारी से जूझ रहे हैं, उनके सामने एक उदहारण रखना चाहती हूं ताकि लोग बिना हार माने अपनी ज़िन्दगी को पूरी तरह से जिएं.''

वो इस संघर्ष के बारे में अपनी जीवनी में भी लिख रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Ibrahim PR

90 की दशक में 'सेक्क सिंबल' मानी जाने वाली लीसा को इस उपाधि से परहेज़ है.

वो कहती हैं, "आज भी लोग भारत में मुझे 'सेक्स सिंबल' के रुप में जानते हैं, लेकिन मुझे उसका अफ़सोस है क्योंकि मैं कभी भी इस उपाधि से जुड़ नहीं पाई. हलांकि विदेश में मेरी पहचान बिलकुल अलग है."

वहीं बॉलीवुड में दूसरी पारी शुरू करने जा रही लीसा कमर्शियल फ़िल्मों से दूर रहना चाहती हैं.

लीसा कहती हैं, "भारत में हमेशा से कमर्शियल फ़िल्में बनती रही हैं. मैं उन फ़िल्मों को देखती तो हूं, लेकिन मैं उनका हिस्सा नहीं बनना चाहती हूं."

इमेज कॉपीरइट AFP

राम गोपाल वर्मा की फ़िल्म 'वीरप्पन' में अहम भूमिका निभा रही लीसा कहती हैं, ''राम गोपाल वर्मा एक प्रतिभाशाली फ़िल्मकार है, जिन्होंने भारत में अलग तरह की फ़िल्मों की नींव रखी जो आज के दौर का अहम सिनेमा है.''

चंदन तस्कर वीरप्पन के एनकाउंटक पर आधारित फ़िल्म 'वीरप्पन' 27 मई को रिलीज़ होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार