उस दिन सलमान ने यह भी कहा था !

  • 25 जून 2016

फ़िल्म 'सुल्तान' के लिए दिए गए एक प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान ‘रेप’ वाले विवादित बयान को लेकर सलमान ख़ान बुरे फ़ंसे हैं.

लेकिन इस बयान के अलावा 45 मिनट से अधिक चले उस इंटरव्यू में सलमान ख़ान ने और भी कई बातें कहीं थीं जिन्हें पढ़ने से शायद आप चूक गए.

आगे जानिए कि सलमान ख़ान ने उस ‘विवादित’ दिन‘ और क्या कहा था.

50 की उम्र है मुश्किल

सलमान ख़ान उम्र के 50 बसंत देख चुके हैं और ऐसे में वो मानते हैं कि इंडस्ट्री में टिके रहने के लिए उन्हें शारीरिक रुप से बहुत तकलीफ़ उठानी पड़ रही है.

वो कहते हैं, “पहले के जितने भी वयस्क कलाकार थे उम्र के इसी पड़ाव में फ़िल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह गए क्योंकि यही वो पड़ाव होता है जब शरीर आपका साथ छोड़ने लगता है और इसे फ़िट रखने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि हीरो बने रहने के लिए अच्छा दिखना बेहद ज़रूरी है."

हॉलीवुड से ख़तरा

इमेज कॉपीरइट salman khan twitter page

सलमान हॉलीवुड की फ़िल्मों को हिंदी सिनेमा के लिए ख़तरा मानते हैं और साथ ही क्षेत्रीय फ़िल्मों की सफलता से भी वो बॉलीवुड को सजग रहने के लिए कहते नज़र आए.

सलमान ने कहा, “ भोजपुरी, मराठी, पंजाबी, दक्षिण भारतीय फ़िल्में बहुत बेहतर कर रही हैं, फिर हॉलीवुड तो है ही. इन फ़िल्मों के अपने हीरो और स्टार है जो हिंदी फ़िल्मों को सीमित कर सकते हैं. हमें हिंदी फ़िल्मों की टिकट के पैसे घटाने चाहिए और सिनेमाघर की संख्या बढ़ानी पड़ेगी वरना हिंदी फ़िल्मों का पतन नज़दीक है."

शाहरूख़ से सामना

इमेज कॉपीरइट Hoture

फ़िल्म 'सुल्तान' और 'रईस' की एक साथ होने वाली रिलीज़ के टल जाने से वो ख़ुश नज़र आए, “मेरी और शाहरुख़ की फ़िल्म आने वाली थी पर उनकी फ़िल्म पूरी न होने के कारण अब नहीं आ रही है. निर्माताओं के अहंकार के कारण जब दो फ़िल्में साथ में आती हैं तो दोनों को नुकसान झेलना पड़ता है और कलेक्शन एक दूसरे के साथ बांटने पड़ते हैं. बाजीराव मस्तानी और दिलवाले के समय यही हुआ था लेकिन अच्छा ही हुआ अब ऐसा नहीं हो रहा है."

स्टारडम

इमेज कॉपीरइट Getty

अपने करियर में कई उतार चढ़ाव देख चुके सलमान खान को अपना स्टारडम खोने का डर लगा रहता है, “मैंने ज़िंदगी में एक बार प्यार और सम्मान खोया है लेकिन मेरे पिता की ज़िंदगी से मैंने सीख ली है क्योंकि मुश्किल वक़्त से वो भी निकले हैं.”

सलमान ने कहा कि वैसे वो जीवन में सब पा चुके हैं और बस अब बाकी है तो किसी का हाथ पकड़ना जीवनसाथी के तौर पर, लेकिन कब ? किसका? शादी ? जैसे नियमित सवालों को वो नियमित रूप से टाल गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार