उड़ता पंजाब पर शोर, ‘शोरगुल’ पर चुप्पी

  • 9 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट Pranav Kumar Singh

बीते शुक्रवार को रिलीज़ हुई फ़िल्म ‘शोरगुल’ को लेकर हुए विवाद को फ़िल्म के पटकथा लेखक शशि वर्मा बेवजह बताते हैं.

एक ओर उत्तर प्रदेश के विधायक संगीत सोम ने फ़िल्म पर उनकी छवि ख़राब करने का आरोप लगाते हुए फ़िल्म को बैन करने की मांग की, वहीं दूसरी ओर खामन पीर बाबा कमेटी ने फ़िल्म में मुस्लिम समुदाय को लेकर आपत्तिजनक डायलॉग बोलने का आरोप लगाते हुए फतवा जारी किया.

इमेज कॉपीरइट Pranav Kumar Singh

इसके अलावा चंडीगढ़ के एक लेखक विजय सौदाई ने फ़िल्म निर्माताओं को कॉपीराइट उल्लंघन का लीगल नोटिस भी भेजा है.

लेखक का आरोप था कि फ़िल्म उसके उपन्यास 'वंदे मातरम' की कहानी पर बनी है. हालांकि इसका उत्तर 'शोरगुल' की टीम दे चुकी है.

जब इस पूरे मामले पर बीबीसी ने फ़िल्म के पटकथा लेखक शशि वर्मा से बात की तो उन्होंने सभी आरोपों और विवादों को बेवजह बताया.

शशि कहते हैं, ‘‘दरअसल उत्तर प्रदेश के एक कद्दावर नेता को ऐसा लगा कि हमारी फ़िल्म उनकी छवि को धूमिल कर सकती है, तो उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया.’’

फ़िल्म पहले 24 जून को रिलीज़ होने वाली थी, लेकिन बाद में इसे 1 जुलाई को रिलीज़ करना पड़ा. इस पर शशि ने बीबीसी को बताया, ‘‘इन विवादों के चलते हमारी फ़िल्म की रिलीज़ भी टली.’’

इमेज कॉपीरइट Shashie Vermaa

वहीं वे बॉलीवुड के दोहरे मापदंड का हवाला देते हुए कहते हैं, ‘‘यदि हमारा बैनर भी बड़ा होता, तो बॉलीवुड हमारे साथ खड़ा होता. लेकिन हम अकेले लड़ रहे हैं.’’

शशि कहते हैं कि ‘उड़ता पंजाब’ के लिए पूरा बॉलीवुड एकसाथ आ गया, लेकिन ‘शोरगुल’ के लिए एक भी शख्स सामने नहीं आया.

वे कहते हैं कि उनकी फ़िल्म की रिलीज़ खिसकाई गई, जिससे प्रोड्यूसर को नुक़सान हुआ, लेकिन हम छोटे बैनर वालों के नुक़सान की किसी को चिंता नहीं है.

वहीं सेंसर बोर्ड पर टिप्पणी करते हुए शशि ने कहा, "सेंसर बोर्ड की कुर्सी पर बैठा आदमी पंच परमेश्वर की तरह होता है. पहलाज जी अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं. ’’

इमेज कॉपीरइट Pranav Kumar Singh

प्रणव कुमार सिंह के निर्देशन में बनी फ़िल्म शोरगुल में जिमी शेरगिल, आशुतोष राणा, संजय सूरी, नरेंद्र झा और हितेन तेजवानी मुख्य भूमिकाओं में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार