'राजनीतिक मुद्दों पर बयान क़ब्र खोदने जैसा'

  • 12 जुलाई 2016
वरुण धवन इमेज कॉपीरइट Spice PR

'स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर','मैं तेरा हीरो', 'बदलापुर' जैसी हिट फ़िल्में देने वाले अभिनेता वरुण धवन मानते हैं कि कि फ़िल्मी कलाकारों को राजनीतिक विषयों पर टिप्पणी नहीं करनी चाहिए.

वरुण का मानना है कि राजनीतिक विषयों पर कलाकारों का टिप्पणी करना अपनी क़ब्र खोदने जैसा है.

इमेज कॉपीरइट Spice PR

अपनी आने वाली फ़िल्म 'ढिशूम' के सिलसिले में बीबीसी से बात करते हुए वरुण धवन ने कहा, "अभिनेताओं को संवेदनशील मुद्दों पर बात नहीं करनी चाहिए क्योंकि उस टिप्पणी से कभी कुछ अच्छा नहीं निकला है. हम कलाकार कई बार अच्छा करना चाहते हैं लेकिन उल्टा हम निशाना बनते हैं. हम अभिनेता हैं हमें अभिनय ही करना चाहिए."

इमेज कॉपीरइट Hoture Images

वो कहते हैं, "आज के अभिनेताओं को पता है कि अगर आप संवेदनशील मुद्दे पर टिप्पणी करते हैं तो उससे आपके साथ कुछ बुरा हो सकता है. ये आपकी मर्ज़ी होगी की राजनीतिक मुद्दे पर बात करके आपको अपनी खुद की कब्र खोदनी है या नहीं."

उनका कहना है , "आज कौन स्टार नहीं है? मीडिया का सपोर्ट हो तो कोई भी स्टार बन सकता है. पर मुझे मीडिया स्टार नहीं बनना, दर्शकों का स्टार बनना है जिसके लिए मैं मेहनत कर रहा हूँ."

आलिया भट्ट के साथ 'स्टूडेंट ऑफ़ द ईयर' से करियर की शुरुआत करने वाले वरुण धवन उनके काम से काफ़ी प्रभावित हैं फिर चाहे वो फ़िल्म 'हाईवे' हो या 'उड़ता पंजाब'.

वरुण का कहना है कि आने वाली अभिनेत्रियों के लिए आलिया एक रोल मॉडल हैं.

इमेज कॉपीरइट Spice PR

वहीं अपने फ़िल्मी चयन पर टिप्पणी करते हुए वरुण कहते हैं, "फ़िल्म इंडस्ट्री का हीरो होने के नाते मेरा एजेंडा है कि मैं ऐसी फिल्में करूं जो सिर्फ़ समीक्षकों की वाह-वाही ना लूटे बल्कि बॉक्स ऑफिस पर पैसे भी कमाए."

बड़े भाई रोहित धवन निर्देशित 'ढिशूम' में वरुण धवन के अलावा जॉन अब्राहम और जैकलीन फर्नांडीस भी अहम भूमिका में दिखेंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार