http://www.bbcchindi.com

गुरुवार, 09 फ़रवरी, 2006 को 00:24 GMT तक के समाचार

ई शाहिद
दुबई से

'ताजमहल' अब किराए पर मिलेगा!

दुबई में इन दिनों एक अनोखा ताजमहल आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. अरे, रे, रुकिए, ताजमहल और दुबई में, है ना अचरज की बात!

लेकिन यह सच है. आगरा के विश्व प्रसिद्ध ताजमहल की ही तरह दुबई में भी हूबहू एक ताजमहल बनाया गया है और मज़े की बात ये है कि इसे पार्टियों के लिए किराए पर भी उपलब्ध कराने की बात हो रही है.

दुबई के ग्लोबर विलेज में थर्मोकोल और प्लास्टर ऑफ पेरिस के मिश्रण से बना ये ताजमहल आकार में असली ताजमहल का 75 प्रतिशत है.

लगभग 50,000 वर्ग फीट में फैले इस ताज को भारत से बुलाए गए 600 कारीगरों ने बनाया है और इसे बनाने में 40 लाख डॉलर का ख़र्च आया है.

इस नक़ली ताज के आयोजकों ने अब इसे किराए पर भी देने का फ़ैसला किया है.

अगर आप इस ताज के परिसर में कोई भोज या डिनर करना चाहते हैं तो यह जगह किराए पर भी मिल सकती है, रात के समय इस जगमगाते परिसर में धीमा-धीमा भारतीय संगीत भी बजता रहता है.

इस ताज के पीछे हैं ज़ी टेलीविज़न नेटवर्क और दुबई ग्रैंड होटल.

ज़ी टीवी नेटवर्क के योगेश राधाकिशन कहते हैं, "हमें उमीद है कि तीन महीने में कम से कम चालीस लाख लोग इसे देखने आएँगे. दुबई में रहने वाले भारतीय और दूसरे देश के लोगों के लिए यहाँ बैठे ताज देखने का इससे अच्छा अवसर नहीं मिल सकता."

बारीक काम

इस ताजमहल में नक्काशी भी असली ताज की ही तरह की गई है, हर बारीक़ चीज का ख़याल रखा गया है और वह बेंच भी बनाया गया है जिस पर बैठकर पर्यटक फोटो खिंचवाना पसंद करते हैं.

पाकिस्तान के राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ ने भी उस बैंच पर फ़ोटो खिंचवाया था और विश्व सुंदरी ऐश्वर्या राय भी उस पर बैठकर अपनी झलक दिखा चुकी हैं.

इसी बेंच के ऊपर बैठा एक नवविवाहित जोड़ा कराची पाकिस्तान से आया था.

जिय़ा और हीर, इस ताज को देखकर काफी खुश थे, उन्होंने कहा, "असली ताज देखने का मौक़ा जाने कब मिले, मगर इस ताज को देखकर यूँ लगा कि असली ताज देख लिया."

वे मुस्कुराते हुए कहते हैं कि "हम यहाँ की तस्वीर ले जाकर लोगों से कहेंगे कि आगरा से घूमकर आए हैं."

इस नक़ली ताज को देखकर लगता है कि शायद लोग उनकी बात मान भी लें.