हमला करने वाले बचेंगे नहीं: नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री मोदी

इमेज स्रोत, Reuters

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत प्रशासित कश्मीर के उड़ी सेक्टर में भारतीय सेना के कैंप पर हुए हमले पर तीखी प्रतिक्रिया दी है.

इस हमले में 17 भारतीय सैनिकों की मौत हुई है, जबकि चार चरमपंथी भी मारे गए हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, "हम उड़ी में हुए कायराना हमले की कड़ी आलोचना करते हैं. मैं राष्ट्र को भरोसा देता हूं कि इस कायरतापूर्ण हमले के पीछे जो लोग हैं उन्हें सज़ा ज़रूर मिलेगी."

इमेज स्रोत, narendramodi

एक और ट्वीट में मोदी ने कहा, "हम उड़ी में शहीद होने वालों को सलाम करते हैं. राष्ट्र के प्रति उनकी सेवा को हमेशा याद रखा जाएगा. मेरी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ हैं."

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, "मैंने हालात का जायज़ा लेने के लिए गृहमंत्री और रक्षामंत्री से बात की है. रक्षामंत्री हालात पर नज़र रखने के लिए कश्मीर जा रहे हैं."

उड़ी में हमले के बाद से ही सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री मोदी से सवाल किए जा रहे थे.

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी (RashtrapatiBhvn) ने ट्वीट कर कहा कि भारत इस तरह के हमलों से डरने वाला नहीं है. उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा, "हम आतंकवादियों और उन्हें शह देने वालों के नापाक इरादों को नाकाम कर देंगे."

उन्होंने हमले में मारे गए सैनिकों के रिश्तेदारों से संवेदना जताई और कहा कि वे घायल हुए लोगों के ज़ल्द स्वस्थ होने के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते है.

इसके पहले मुखर्जी ने हमले की कड़ी निंदा की और मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी.

इमेज स्रोत, @USAmbIndia

इमेज कैप्शन,

भारत में अमरीकी राजदूत रिचर्ड वर्मा का ट्वीट

अमरीका ने उड़ी हमले को "आतंकवादी" हमला करार दिया है.

भारत में अमरीकी राजदूत रिचर्ड वर्मा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल (@USAmbIndia) पर ट्वीट किया, "हम इस आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करते हैं. हमारी संवेदनाएं मारे गए वीर सैनिकों के रिश्तेदारों के साथ हैं."

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी हमले पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है.

इमेज स्रोत, twitter.com/rajnathsingh

इमेज कैप्शन,

राजनाथ सिंह ट्वीट

उन्होंने पाकिस्तान को "आतंकवादी" देश करार देते हुए अलग थलग करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है. राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "पाकिस्तान एक आतकंवादी देश है. इस रूप में इसकी पहचान कर इसे अलग थलग कर दिया जाना चाहिए."

राजनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि वे उड़ी में सेना के कैंप पर हुए आतकंवादी हमले में 17 जवानों के "शहीद होने" से काफ़ी दुखी हैं. उन्होंने ज़ख़्मी हुए लोगों के जल्दी स्वस्थ होने की कामना भी की.

गृहमंत्री ने इस हमले की वजह से रूस और अमरीका के प्रस्तावित दौरे को भी फ़िलहाल टाल दिया है.

उन्होंने कहा कि उड़ी के हमलावर अत्याधुनिक हथियारों से लैस थे और वो पूरी तरह से प्रशिक्षित थे.

इमेज स्रोत, EPA

इमेज कैप्शन,

राजनाथ सिंह, गृहमंत्री

राजनाथ सिंह ने हमले में मारे गए जवानों के रिश्तेदारों के प्रति संवेदना जताई और कहा कि हमले के लिए ज़िम्मेदार लोगों को सज़ा ज़रूर मिलेगी.

उन्होंने हमले के बाद अपने घर पर विभाग के आला अफ़सरों की बैठक कर स्थिति की समीक्षा की और प्रधानमंत्री को इसकी जानकारी दे दी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)