मंत्रियों ने पीएम मोदी को दी पूरी जानकारी

इमेज कॉपीरइट PIB

भारत प्रशासित कश्मीर के उड़ी सेक्टर में चरमपंथी हमले के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सीमावर्ती इलाकों की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की है.

बैठक के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके 7 आरसीआर स्थित आवास पर हालात की जानकारी दी.

बैठक के बाद विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा कि किसी भी तरह का फैसला भावना में बहकर नहीं लिया जाएगा और इस बारे में प्रधानमंत्री ने कहा है कि कोई न कोई फैसला किया जाएगा.

रविवार को भारत प्रशासित कश्मीर के उड़ी सेक्टर में चरमपंथियों ने भारतीय सेना के कैंप पर हमला कर दिया था. इस हमले में 17 सैनिकों की मौत हो गई थी. सेना की जवाबी कार्रवाई में चार चरमपंथियों की भी मौत हो गई थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार गृहमंत्री के नेतृत्व में हुई इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल समेत रक्षा, सेना, और अर्धसेना बलों के प्रमुख अधिकारी शामिल थे जिन्होंने राजनाथ को सुरक्षा स्थिति से अवगत कराया.

सूत्रों के अनुसार चरमपंथी हमले से उपजी नई चुनौतियों से निपटने के लिए संभावित रणनीतियों पर भी चर्चा की गई है.

केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने अपनी श्रीनगर यात्रा रद्द कर इस बैठक में हिस्सा लिया है.

बैठक में पंजाब और गुजरात से भी आला अधिकारी मौजूद थे और सीमा की सुरक्षा के बारे में उन्होंने अपनी बातें गृह मंत्री के सामने रखीं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

इस बीच, राष्ट्रीय जांच एजेंसी की एक टीम उड़ी पहुंच रही है जो चरमपंथी हमलों से जुड़े सबूत इकट्ठा करेगी.

भारत ने उड़ी में हुए हमलों पर कड़ा रूख अपनाया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना की कड़ी आलोचना की है.

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को अपने बयान में इस घटना के लिए पाकिस्तान को सीधे सीधे जिम्मेदार ठहराया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)