फ़ोर्ब्स के अमीरों की सूची में शामिल हुए बालकृष्ण

  • 23 सितंबर 2016
इमेज कॉपीरइट Acharya Bal Krishna, Facebook
Image caption पतंजलि आयुर्वेद के सह-संस्थापक आचार्य बालकृष्ण

अंग्रेज़ी अख़बार 'पायोनियर' की एक ख़बर के अनुसार पतंजलि आयुर्वेद में 97 फ़ीसदी की हिस्सेदारी रखने वाले बाबा रामदेव के क़रीबी आचार्य बालकृष्ण फ़ोर्ब्स की 100 अमीर भारतीयों की सूची में शामिल हो गए हैं.

ख़बर के अनुसार उनकी हैसियत 2.5 अरब डॉलर (लगभग 16,000 करोड़ रूपये) की है और वे इस सूची में 48वें स्थान पर हैं.

इस सूची से जो नाम बाहर हो गए हैं उनमें हैं फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिन और बिन्नी बंसल.

'दैनिक भास्कर' में छपी एक ख़बर के अनुसार झारखंड की राजधानी रांची के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स में एक महिला पलमति देवी के पास खाने के लिए बर्तन न होने पर उन्हें अस्पताल के कर्मचारियों ने फर्श पर ही दाल-भात और सब्ज़ी परोस दी.

अख़बार का कहना है कि इस अस्पताल का सालाना बजट करीब 300 करोड़ रुपये का है.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption कोलकाता में मदर टेरेसा के स्थापित किए एक शिशु भवन में अनाथ और छोड़ दिए गए बच्चों के साथ काम करती एक नन

'इंडियन एक्सप्रेस' में छपी एक ख़बर के अनुसार पिछड़ा वर्ग के लिए राष्ट्रीय कमीशन एनसीबीसी ने कहा है कि अन्य पिछड़ा वर्ग की केंद्रीय सूची में अनाथ और ग़रीब बच्चों को शामिल किया जाना चाहिए.

कमीशन से इससे संबंधित एक प्रस्ताव पारित किया है.

'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' के अनुसार भारतीय जनगणना के ताज़ा आंकड़ों से पता चलता है 5 से 17 साल की उम्र वाले बच्चों में 8.4 करोड़ बच्चे स्कूल नहीं जा पाते. 8 लाख बच्चों को पढ़ाई करते हुए कमाई करने के लिए विवश होना पड़ता है.

ख़बर के अनुसार काम करने वाले बच्चों में 57 फ़ीसदी लड़के हैं जबकि 43 फ़ीसदी लड़कियां हैं.

Image caption करुणा की मां बताती हैं वो नर्स बनना चाहती थी.

'दैनिक जागरण' का कहना है कि दिल्ली के बुराड़ी में हुए करुणा हत्याकांड की सीसीटीवी फुटेज मीडिया में लीक करने वाले सिपाही रामनिवास को निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस के अनुसार वीडियो लीक होने के कारण ही लोगों का आक्रोश भड़का और वे पोस्टमार्टम के बाद सड़कों पर उतरे.

मंगलवार को सामने आए सीसीटीवी फुटेज में देखा गया था कि एक व्यक्ति ने सड़क पर 21 साल की करुणा पर चाक़ू से 20 से ज़्यादा बार वार किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters

'हिंदुस्तान टाइम्स' के मुताबिक़ गांधी जयंती के दिन दिल्ली सरकार जश्ने सरसों नाम के एक कार्यक्रम का आयोजन करेगी जिसके अंतर्गत जेनेटिकली मॉडिफाइड सरसों की बजाय जैविक सरसों के इस्तेमाल पर ज़ोर देगी.

कथित तौर पर जेनेटिकली मॉडिफाइड सरसों को भारतीय नियामक संस्था जेनेटिक इंजिनीयरिंग अप्रेज़ल कमीटी के स्वीकृति दे दी है पर अभी इस पर आख़िरी फैसला लिया जाना बाक़ी है.

इमेज कॉपीरइट Ravi Prakash
Image caption इसी साल जुलाई में लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता महाश्वेता देवी का निधन हो गया था

अख़बार में छपी एक अन्य ख़बर के अनुसार हरियाणा के महेंद्रगढ़ में केंद्रीय विश्वविद्यालय के छात्रों के एक नाटक के मंचन को लेकर तनाव की स्थिति पैदा हो गई है.

महाश्वेता देवी के लिखे इस नाटक 'द्रोपदी' के एक दृष्य में आर्मी का एक जवान एक आदिवासी महिला से आदिवासी आंदोलन में शामिल लोगों के नाम जानने की कोशिश करता है. महिला के कुछ न बताने पर वह उसका बलात्कार करता है.

इस नाटक का विरोध करने वालों ने नाटक में शामिल लोगों के खिलाफ़ प्रथमिकी दर्ज करने की मांग की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए