64 हज़ार लोगों से मिले 65 हज़ार करोड़ रुपए

  • 1 अक्तूबर 2016

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि इनकम डिक्लयरेशन स्कीम (आईडीएस) 2016 के तहत 64,275 लोगों ने अपने काले धन के बारे में सरकार को जानकारी दी है.

शनिवार को दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में वित्त मंत्री ने कहा कि इन लोगों से कुल 65,250 करोड़ रुपए के काले धन की जानकारी मिली है.

उन्होंने बताया कि इस रकम में 8000 करोड़ रुपए वो भी शामिल हैं जो एचएसबीसी की सूची में थे.

वित्त मंत्री ने ये आंकड़े 30 सितम्बर की अवधि पूरी होने के बाद जारी किए हैं. सरकार ने अघोषित आय की घोषणा करने के लिए 30 सितम्बर तक का समय दिया था.

इस योजना के तहत काला धन रखने वालों को अपनी अघोषित आय पर 45 प्रतिशत आयकर देना था.

सरकार ने कहा था कि 30 सितम्बर के बाद काला धन रखने वालों को किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी.

सरकार ने ये भी कहा था कि जिन लोगों ने अपने काले धन की जानकारी सरकार को दी है, उनके नाम ज़ाहिर नहीं किए जाएंगे और उनके ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी.

वित्त मंत्री ने ये भी कहा कि इस संबंध में अंतिम आंकड़े बाद में जारी किए जाएंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए