'पाक कलाकारों के खिलाफ धरना दे शिवसेना'

ओम पुरी

फ़िल्म अभिनेता ओम पुरी ने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) और शिव सेना को चुनौती देते हुए कहा कि यदि उन्हें पाकिस्तानी कलाकारों से कुछ ज़्यादा ही विरोध है तो वे महाराष्ट्र सरकार पर दबाव डालकर उन्हें देश से निकलवा दें.

ओमपुरी ने बीबीसी हिंदी के विशेष कार्यक्रम 'बीबीसी इंडिया बोल' में श्रोताओं के सवालों के जवाब में कहा, " वो धरने पर बैठें और इन्हें बाहर निकलवा दें."

मनसे और शिव सेना ने भारत प्रशासित कश्मीर के उड़ी में हुए हमले के बाद भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने का विरोध करते हुए उन्हें देश छोड़ कर अपने वतन लौट जाने को कहा था.

ओम पुरी ने पाकिस्तानी कलाकारों का बचाव किया था. इसके बाद वे सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए थे और उनकी काफ़ी आलोचना हुई थी.

इमेज स्रोत, Crispy Bollywood

इमेज कैप्शन,

माहिरा और फ़वाद ख़ान

'बीबीसी इंडिया बोल' कार्यक्रम में यह मुद्दा उठा.

समानांतर सिनेमा के इस स्टार अभिनेता ने पाकिस्तान की भी तीखी आलोचना की. उन्होंने कहा कि इस्लामाबाद को अच्छी तरह पता है कि वह सीधी लड़ाई में भारत को नहीं हरा सकता. लिहाज़ा, इसके ख़िलाफ़ गुरिल्ला युद्ध चलाए हुए है.

इमेज स्रोत, Cripsy Bollywood

पाकिस्तान के लेखक और कवि अली अकबर नातिक इस कार्यक्रम में इस्लामाबाद से जुड़े थे और श्रोताओं के सवालों के जवाब दे रहे थे.

उन्होंने कहा कि उड़ी हमले का उन्हें दुख है. भारत में होने वाले चरमपंथी हमलों का वे और उनके मुल्क के दूसरे कलाकार, लेखक और बुद्धिजीवी विरोध करते रहते हैं.

नातिक ने ज़ोर देकर कहा कि मौजूदा तनाव के लिए दोनों देशों की सरकारें ज़िम्मेदार हैं. लिहाज़ा, दोनों मुल्कों की अवाम को अपने रिश्ते और मजबूत करने चाहिए.

उन्होंने वाघा सीमा पर होने वाली परेड के दौरान सैनिकों की भाव भंगिमा पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे साबित होता है कि दोनों देश एक से हैं, कुछ साल पहले तक एक ही देश थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)